ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशभगवंत मान सरकार में एक और मंत्री का आपत्तिजनक वीडियो आया सामने, राज्यपाल से की बर्खास्तगी की मांग

भगवंत मान सरकार में एक और मंत्री का आपत्तिजनक वीडियो आया सामने, राज्यपाल से की बर्खास्तगी की मांग

पंजाब के मंत्री बलकार सिंह मुश्किलों में फंस गए हैं। उनका कथित रूप से एक आपत्तिजनक वीडियो सामने आया है। अकाली दल ने राज्यपाल से मुलाकात कर उनकी बर्खास्तगी की मांग की है।

भगवंत मान सरकार में एक और मंत्री का आपत्तिजनक वीडियो आया सामने, राज्यपाल से की बर्खास्तगी की मांग
Gaurav Kalaलाइव हिन्दुस्तान,चंडीगढ़Wed, 24 Jan 2024 10:40 PM
ऐप पर पढ़ें

पंजाब में भगवंत मान सरकार के स्थानीय निकाय मंत्री बलकार सिंह मुश्किलों में फंस गए हैं। उनका कथित रूप से एक आपत्तिजनक वीडियो सामने आया है। शिरोमणि अकाली दल ने बुधवार को राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित को स्थानीय निकाय मंत्री बलकार सिंह के बर्खास्तगी की मांग की और साथ ही केंद्रीय एजेंसी से मामले की जांच कराने की अपील की है। भगवंत मान सरकार में यह दूसरे मंत्री हैं जो इस तरह के मामले में फंसे हैं। इन से पहले पिछले साल मंत्री लाल चन्द कटारूचक्क का एक युवक के साथ आपत्तिजनक वीडियो वायरल होने से पंजाब की राजनीति में बवाल मच गया था। 

अकाली दल के प्रतिनिधिमंडल में वरिष्ठ अकाली नेता बिक्रम सिंह मजीठिया और डॉ. दलजीत सिंह चीमा शामिल थे। भगवंत मान सरकार के यह दूसरे मंत्री हैं जो इस तरह के मामले में फंसे हैं। पिछले साल मंत्री लाल चन्द कटारूचक्क का एक युवक के साथ आपत्तिजनक वीडियो वायरल होने से पंजाब की राजनीति में बवाल मच गया था। उस मामले में राज्य पाल ने डीजीपी को जांच के आदेश दिये थे। बाद में पीड़ित युवक ने राज्यपाल व एससी कमिशन के आदेशों पर पंजाब पुलिस की तरफ से बनाई गई जांच कमेटी के सामने शिकायतकर्ता ने कार्रवाई से ही इनकार कर दिया था। 

पीड़िता को डराया-धमकाया गया
अकाली नेता बिक्रम सिंह मजीठिया ने बताया कि उन्होंने राज्यपाल को पूरे प्रकरण से अवगत कराया है। राज्यपाल को बताया गया कि पीड़ित को डराया-धमकाया गया, जिसके कारण वह मंत्री के खिलाफ मामला दर्ज कराने के लिए आगे नहीं आई है। उन्होंने मांग की कि आपराधिक गतिविधियों में शामिल होने के आरोपी अन्य सभी आप मंत्रियों को गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रीय ध्वज फहराने से भी रोका जाए। 

मंत्री को बचा रहे मुख्यमंत्री मान
शिरोमणि अकाली दल ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री भगवंत मान मंत्री का बचाव कर रहे हैं और इस मामले में उनसे न्याय की उम्मीद बेमानी होगी। पत्रकारों से बातचीत करते हुए मजीठिया ने कहा कि उन्होंने तीन महीने पहले मुख्यमंत्री को सूचित किया था कि उनके पास मंत्री का एक कथित आपत्तिजनक वीडियो है और वह इसे उन्हें सौंपना चाहते हैं। बावजूद इसके मुख्यमंत्री ने उनसे मुलाकात नहीं की। प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि मंत्री की बर्खास्तगी के साथ मामले की स्वतंत्र जांच हो। 

पंजाब पुलिस के पूर्व डीसीपी रहे हैं बलकार सिंह 
भगवंत मान सरकार ने अपने चौथे कैबिनेट विस्तार में जालंधर की करतारपुर विधानसभा से विधायक बलकार सिंह को शामिल किया था। लोकल बॉडी व पार्लियामेंट्री अफेयर्स मंत्रालय सौंपा गया था। बलकार सिंह दलित नेता हैं और मजहबी सिख समाज का प्रतिनिधित्व करते हैं। वह पंजाब पुलिस के पूर्व डीसीपी हैं और उन्हें क्राइम की गुत्थी सुलझाने का माहिर माना जाता था। बलकार सिंह जम्मू-कश्मीर में आम आदमी पार्टी के प्रभारी भी हैं। 

रिपोर्ट: मोनी देवी

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें