DA Image
25 जून, 2020|3:40|IST

अगली स्टोरी

प्रवासी मजदूरों को पहुंचाने पंजाब सरकार उत्तर प्रदेश के इन 10 जिलों के लिए चलाएगी बसें

migrant laborers in uttar pradesh

पंजाब सरकार उत्तर प्रदेश में स्थित अपने घर जाना चाह रहे प्रवासी मजदूरों के लिए बसें चलाएगी। जालंधर के उपायुक्त वीरेंद्र कुमार शर्मा ने रविवार को बताया कि बसें जालंधर से चलेंगी और निशुल्क रहेंगी। बसें उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्धनगर, मेरठ, गाजियाबाद, अलीगढ़, बुलंदशहर, मुजफ्फरनगर, बागपत, सहारनपुर, मथुरा और हापुड़ के प्रवासी कामगारों को लेकर जाएंगी।

निगम की अतिरिक्त आयुक्त बबीता कलेर और सहायक आयुक्त रणदीप सिंह गिल 10 जिलों के जिलाधिकारियों से समन्वय करके बसें भेजने के लिए तैयारी कर रहे हैं

आपको यह भी बता दें कि राजस्थान के अलवर में फंसे उत्तर प्रदेश के प्रवासी श्रमिकों को गृह राज्य भेजने के लिए कांग्रेस पार्टी ने बसों की व्यवस्था कर रवाना किया। लॉकडाउन के बीच अलवर और भरतपुर में फंसे उत्तर प्रदेश के मजदूरों को उनके घर भेजने के लिए कांग्रेस पार्टी ने 500 बसों की व्यवस्था की। कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने शनिवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर प्रवासियों को सुरक्षित उनके घरों तक ले जाने के लिए 1,000 बसें चलाने की अनुमति मांगी थी।

जम्मू-कश्मीर के बाहर फंसे 39 बच्चे घर पहुंचे
लॉकडाउन के चलते देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे जम्मू-कश्मीर के 39 बच्चे केंद्रशासित प्रदेश में लौटने के बाद अपने-अपने घर पहुंच गए हैं। अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि जम्मू-कश्मीर के बाहर फंसे बच्चों को वापस लाने के लिए उनके माता-पिता और परिवारों की ओर से फोन पर अनुरोध मिले थे।

इसके बाद कठुआ के उपायुक्त ओपी भगत ने हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, राजस्थान और दिल्ली-एनसीआर से बच्चों को वापस लाने के लिए एक विशेष टीम गठित की थी। 39 बच्चे अपने माता-पिता और परिवारों के पास पहुंच गए हैं। इनमें कठुआ के 28, जम्मू के पांच और उधमपुर तथा सांबा जिलों के तीन-तीन बच्चे शामिल हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Punjab government will sends migrant workers by bus to ten districts of Uttar Pradesh iccluding Ghaziabad Merut Aligarh Bulandshahar Muzaffarnagar