Punjab Cabinet Minister Navjot Sidhu went to Pakistan to participate in the Kartarpur corridor program - करतारपुर कॉरिडोर कार्यक्रम में हिस्सा लेने पाकिस्तान गए नवजोत सिद्धू DA Image
21 नबम्बर, 2019|4:11|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

करतारपुर कॉरिडोर कार्यक्रम में हिस्सा लेने पाकिस्तान गए नवजोत सिद्धू

Punjab Cabinet Minister Navjot Sidhu on Attari Wagha Border (ANI Pic)

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के न्यौते पर करतारपुर कॉरिडर कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए पंजाब के कैबिनेट मंत्री और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू मंगलवार को पाकिस्तान रवाना हो गए। उन्होंने दोपहर अटारी-वाघा बॉर्डर पार किया। पाकिस्तान में करतारपर कॉरिडोर का शिलान्यास 28 नवंबर (बुधवार) को किया जाएगा। इस कार्यक्रम में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान शामिल होंगे। 

गौरतलब है कि इससे पहले, पाकिस्तान के विदेश मंत्री के न्योते को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ठुकरा दिया था। उन्होंने इसके लिए लगातार हो रही आतंकी घटनाएं और देश की सीमा पर पाक गोलीबारी में भारतीय जवानों के शहीद को वजह बताई। नवजोत सिद्धू इससे पहले पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लेने के लिए इस्लामाबाद गए थे। हालांकि, उस दौरान पाकिस्तान आर्मी चीफ के साथ गले लगने के चलते वो काफी विवादों में भी रहे थे।

पाकिस्तान में करतारपुर साहिब, भारत के पंजाब के गुरदासपुर जिले के डेरा बाबा नानक पूजास्थल से करीब चार किलोमीटर दूर रावी नदी के पार स्थित है। यह सिख गुरुद्वारा 1522 में सिख गुरु ने स्थापित किया था। पहला गुरुद्वारा, गुरुद्वारा करतारपुर साहिब, यहां बनाया गया था, जिसके बारे में कहा जाता है कि यहां गुरु नानक देव का निधन हुआ था।

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान के करतारपुर न्यौते को पंजाब सीएम ने किया इनकार, सिद्धू तैयार

करतारपुर साहिब कॉरिडोर
करतारपुर साहिब गलियारे के निर्माण की मांग भारत दो दशक से करता आ रहा था, जहां गुरुनानक का निधन 1539 में हुआ था। यह धार्मिक स्थल भारतीय सीमा से दिखाई पड़ता है। सरकार पंजाब में सुल्तानपुर लोधी का भी विकास करेगी, जहां गुरु नानक ने शुरुआती जिदंगी बिताई थी। सिख गुरु के जीवन से जुड़े पवित्र स्थानों और गुरुद्वारों के दर्शन को आसान बनाने के लिए विशेष ट्रेन भी चलाई जाएगी। सिख तीर्थयात्री अब करतारपुर में रावी नदी के तट पर प्रतिष्ठित गुरुद्वारा दरबार साहिब का दौरा करने में सक्षम होंगे। इससे पहले नवंबर में, पाकिस्तान ने गुरु नानक की 549वीं जयंती के जारी समारोहों के लिए सिख तीर्थयात्रियों को 3,800 से अधिक वीजा जारी किए थे।

ये भी पढ़ें: करतारपुर कॉरिडोर: बीस साल से मुकर रहा था पाकिस्तान

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Punjab Cabinet Minister Navjot Sidhu went to Pakistan to participate in the Kartarpur corridor program