ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशपुणे पोर्शे कांड में बड़ा ऐक्शन, डॉक्टर समेत दो हुए गिरफ्तार; ब्लड सैंपल बदलने के आरोप

पुणे पोर्शे कांड में बड़ा ऐक्शन, डॉक्टर समेत दो हुए गिरफ्तार; ब्लड सैंपल बदलने के आरोप

Pune Porsche Car Accident: पुणे के पोर्शे कांड में पुलिस का बड़ा ऐक्शन हुआ है। खबर है कि सबूतों से छेड़छाड़ के आरोप में जांच में शामिल डॉक्टर और फॉरेंसिक विभाग के प्रमुख को गिरफ्तार किया गया है।

पुणे पोर्शे कांड में बड़ा ऐक्शन, डॉक्टर समेत दो हुए गिरफ्तार; ब्लड सैंपल बदलने के आरोप
Nisarg Dixitलाइव हिन्दुस्तान,पुणेMon, 27 May 2024 11:39 AM
ऐप पर पढ़ें

पुणे पोर्शे कांड में पुलिस का बड़ा ऐक्शन हुआ है। खबर है कि सबूतों से छेड़छाड़ के आरोप में डॉक्टर और फॉरेंसिक विभाग के प्रमुख को गिरफ्तार किया गया है। कहा जा रहा है कि खून के नमूनों को बदल दिया गया था। हालांकि, अब तक इसे लेकर पुलिस की तरफ से आधिकारिक तौर पर कुछ नहीं कहा गया है। अब तक पुलिस ने नाबालिग आरोपी के पिता और दादा को गिरफ्तार कर लिया है।

इंडिया टुडे से बातचीत में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि सासून अस्पताल के फॉरेंसिक डिपार्टमेंट के प्रमुख और एक अन्य डॉक्टर को सबूतों से छेड़छाड़ के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। खास बात है कि इसी अस्पताल में नाबालिग आरोपी को मेडिकल जांच के लिए ले जाया गया था। रविवार सुबह करीब 3 बजे हुए हादसे में मध्य प्रदेश के रहने वाले दो इंजीनियर्स की मौत हो गई थी।

रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया कि नाबालिग को 19 मई को सुबह 11 बजे अस्पताल लाया गया था। यहां शुरुआती ब्लड सैंपल में शराब का पता नहीं लगा था, जिसके चलते शक पैदा हुआ। रिपोर्ट के अनुसार, ब्लड सैंपल को किसी ऐसे दूसरे व्यक्ति के सैंपल से बदल दिया गया था, जिसने शराब का सेवन नहीं किया  था। इसकी जानकारी लगने के बाद ये दो गिरफ्तारियां हुईं हैं।

इसके बाद जब जांच की दूसरी रिपोर्ट सामने आई, तो अलग-अलग सैंपल होने की बात का पता चला। इसके बाद जांच में शामिल अधिकारियों को सरकारी अस्पताल के डॉक्टरों पर सबूतों के साथ छेड़छाड़ करने का शक हुआ था। खास बात है कि इससे पहले दो पुलिसकर्मियों को भी नियमों का पालन नहीं करने के चलते निलंबित कर दिया गया था।

हादसे में अनीस अवधिया और अश्विनी कोष्टा की मौत हो गई थी। दोनों की उम्र 24 साल के आसपास थी और पेशे से इंजीनियर थे। खबरें हैं कि हादसा रविवार सुबह करीब 3 बजे के आसपास हुआ। उस दौरान अवधिया और कोष्टा दुपहिया वाहन से जा रहे थे और पीछे से तेज रफ्तार पोर्शे कार ने उन्हें टक्कर मार दी थी। टक्कर इतनी तेज थी कि अश्विनी की मौके पर ही मौत हो गई थी।