PULWAMA TERROR ATTACK Colleges said will not give admission to Kashmiris - PULWAMA TERROR ATTACK: कालेजों ने कहा- कश्मीरियों को नहीं देंगे दाखिला DA Image
6 दिसंबर, 2019|6:50|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

PULWAMA TERROR ATTACK: कालेजों ने कहा- कश्मीरियों को नहीं देंगे दाखिला

The biggest attack in Kashmir till now

पुलवामा आतंकी हमले का कथित तौर पर समर्थन करने के लिए देश के विभिन्न शहरों में कई कश्मीरी छात्रों के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज किए जाने के बीच देहरादून के दो कॉलेजों ने घाटी के छात्रों को दाखिला नहीं देने का फैसला किया है। वहीं यहां के छात्रों का कहना है कि वे घटना के बाद दहशत के माहौल में हैं।

जम्मू और कश्मीर प्रशासन ने सोमवार को राज्य से बाहर छात्रों से अफवाहों पर ध्यान नहीं देने और अपने संबंधित स्थानों पर रहने की कोशिश करने को कहा है। देहरादून के अल्पाइन कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी और बाबा फरीद इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी ने आगामी शैक्षणिक सत्र से किसी भी कश्मीरी छात्र का दाखिला नहीं लेने का फैसला किया है।

दोनों कॉलेजों के शीर्ष अधिकारियों ने छात्रों संगठनों के साथ साझा किए गए अलग-अलग पत्रों में इस फैसले की पुष्टि की है। छात्र संगठन हमले के बाद सभी कश्मीरी छात्रों को निष्कासित करने की मांग कर रहे हैं। उत्तराखंड की राजधानी में, कुछ कश्मीरी युवकों ने आरोप लगाया था कि पुलवामा की घटना के बाद उन्हें परेशान किया जा रहा है और हमले के डर से उनके मकान मालिकों ने मकान खाली करने को कहा है।

पुलवामा हमले का समर्थन करने वाले व्हाट्सएप संदेश भेजने को लेकर शुक्रवार को देहरादून में एक छात्र के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। जम्मू और कश्मीर सरकार ने रविवार को देश भर के अपने संपर्क अधिकारियों को राज्य के छात्रों की समस्याओं पर गौर करने को कहा था। हरियाणा के स्वामी देवी दयाल कॉलेज ने एक कश्मीरी छात्र को आपत्तिजनक पोस्ट करने के आरोप में निलंबित कर दिया। 

संस्थान के प्रबंधन के अनुसार छात्र को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया लेकिन उसके खिलाफ पुलिस शिकायत शुरू नहीं की जा सकी क्योंकि वह जनवरी से कश्मीर में है। दिल्ली में कई कश्मीरी छात्रों ने कहा कि पुलवामा हमले के बाद कश्मीरियों के कथित उत्पीड़न की रिपोर्ट के बाद भी वे भय की स्थिति में हैं। वहीं पुलिस ने जोर दिया कि राष्ट्रीय राजधानी में सुरक्षा बढ़ा दी गई थी और वे सभी नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करेंगे।

जामिया मिलिया इस्लामिया के एक कश्मीरी छात्र ने दावा किया कि देश भर में कश्मीरी छात्रों को परेशान किया जा रहा है और उनके साथ दुर्व्यवहार किया जा रहा है।

जैश प्रमुख मसूद एक थप्पड़ में गिरा था औंधे मुंह, उगलने लगा था सबकुछ

PULWAMA ENCOUNTER: दो साल पहले ही हुई थी शहीद हरी सिंह की शादी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:PULWAMA TERROR ATTACK Colleges said will not give admission to Kashmiris