DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रियंका गांधी वाड्रा की राजनीति में एंट्री, लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के लिए हो सकता है ‘गेम चेंजर’

file photo of Priyanka Gandhi Vadra waving to supporters of the Congress party after election at Ame

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha) से ठीक पहले कांग्रेस अध्यक्ष (Congress Chief) राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की तरफ से बहन प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) को महासचिव बनाकर पूर्वी उत्तर प्रदेश की कमान देने के फैसले से यूपी के कार्यकर्ता  काफी खुश हैं। और वे सभी कांग्रेस अध्यक्ष के इस कदम को ‘गेम चेंजर’ मान रहे हैं।

चुनावी साल में प्रियंका की महत्वपूर्ण पद पर नियुक्ति से ज्यादातर पार्टी कार्यकर्ता आशावादी हैं। उत्तर प्रदेश कांग्रेस समिति के प्रवक्ता पीयूष मिश्रा ने कहा- “हम इस बात की मांग करते आ रहे हैं। वह सक्रिय रही हैं। पूर्वी उत्तर प्रदेश के महासचिव पद पर उनकी नियुक्ति गेम चेंजर साबित होगा। हम इस फैसले से काफी खुश हैं और कार्यकर्ता जश्न मना रहे हैं।”

ये भी पढ़ें: बिहार: गठबंधन में दरार! कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं पूर्व RJD नेता

प्रियंका पार्टी नेताओं के करीब रही हैं, और पार्टी के संगठनात्मक स्तरों पर कई बदलाव आनेवाले दिनों में देखे जा सकते हैं। कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला और मोतीलाल वोरा ने कहा कि प्रियंका की नियुक्ति से देशभर में कांग्रेस पार्टी की फिर से वापसी होगी।

प्रियंका गांधी की महत्वपूर्ण पद की नियुक्ति का फैसले ऐसे वक्त पर लिया गया है जब राहुल गांधी अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी के एक दिवसीय दौरे पर हैं। पिछले महीने समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के गठबंधन करने और उसमें कांग्रेस को शामिल नहीं किए जाने के बाद राज्य में कांग्रेस की चुनौती बढ़ गई है।

समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी की तरफ से तरजीह नहीं दिए जाने के बाद कांग्रेस ने शुरुआत मे इस बात की घोषणा की कि वे राज्य की सभी 80 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। हालांकि, बाद में उसने कहा कि समान विचारधारा वाली पार्टियों के गठबंधन के उनके रास्ते खुले हुए हैं।

ये भी पढ़ें: प्रियंका गांधी बनीं कांग्रेस महासचिव, मिला पूर्वी UP का प्रभार

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Priyanka Gandhi Vadra appointment on UP Congress East General Secretary may be a game changer