DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुगल के वंशज होने का दावा करने वाले प्रिंस बोले- अयोध्या में राम मंदिर के लिए दूंगा सोने की ईंट

prince habeebuddin tucy

खुद को मुगल साम्राज्‍य के अंतिम शासक बहादुर शाह जफर का वंशज बताने वाले राजकुमार हबीबुद्दीन तुसी ने अयोध्या में राम मंदिर को लेकर बड़ा बयान दिया है। मुगल साम्राज्य के वंशज प्रिंस हबीबुद्दीन तुसी ने अयोध्‍या में राम मंदिर निर्माण के लिए सोने की ईंट दान करने का प्रस्‍ताव दिया है। बता दें कि बाबरी मस्जिद-रामजन्मभूमि मामला अभी सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन है।  

यह भी पढ़ें- यूपी के कानून मंत्री ने कहा, अयोध्या में जल्द बनेगा राम मंदिर 

हालांकि, वह चाहते हैं कि पहले बाबरी मस्जिद रामजन्मभूमि जमीन उन्हें सौंप देनी चाहिए, क्योंकि मुगल बादशाह बाबर ने 1529 में बाबरी मस्जिद बनाई थी और वह उनके वंशज हैं। उनका यह भी कहना है कि वंशज होने के नाते वे ही जमीन के असल हकदार हैं। 

तुसी ने रविवार को कहा, 'यदी सुप्रीम कोर्ट उन्‍हें जमीन सौंप देता है तो वह लोगों की भावनाओं का ख्याल रखते हुए राम मंदिर के लिए पूरी जमीन दान कर देंगे। क्योंकि हिंदू पक्षकारों का यह मानना है कि राम मंदिर के जगह पर बाबरी मस्जिद का निर्माण हुआ है।

गौरतलब है कि 6 दिसंबर 1992 को सैकड़ों कारसेवकों ने मस्जिद को ढा दिया था। 50 साल के हबीबुद्दीन तुसी ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है। हालांकि, अब तक उनकी याचिका पर सुनवाई के लिए सुप्रीम कोर्ट तैयार नहीं हुआ है। इस याचिका में तुसी ने एक पक्ष बनाने की मांग की है। 

यह भी पढ़ें- अयोध्या भूमि विवाद पर आज नहीं हुई सुनवाई, जानें वजह

तुसी का तर्क है कि अयोध्‍या में विवादित जमीन को लेकिर किसी भी पक्षकार के पास अपने पक्ष को साबित करने के लिए कोई दस्‍तावेज नहीं हैं। मगर वह चूंकि मुगलों के वंशज हैं, इसलिए जमीन पर उनका हक हैष। उन्होंने यह भी कहा कि वह पहले ही तय कर चुके हैं कि वो पूरी जमीन मंदिर निर्माण के लिए दान कर देंगे।  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Prince Habeebuddin Tucy who claims to be Mughal descendant offers gold brick for Ram temple