DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा- बाबा केदार से मैंने कुछ नहीं मांगा

                                                                         bjp

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को बदरीनाथ धाम के दर्शन करने के बाद दिल्ली को रवाना हो गए। इससे पहले सुबह उन्होंने केदारनाथ में पत्रकारों से कहा कि, मैंने केदारनाथ से कुछ नहीं मांगा। मैं मांगने की प्रवृत्ति से सहमत नहीं हूं। मोदी ने कहा कि केदारनाथ का विकास मास्टर प्लान के तहत हुआ है और यहां पुननिर्माण में समर्पित टीम लगी हुई है। 

गुफा में 17 घंटे की साधना 

प्रधानमंत्री ने शनिवार दोपहर बाद मंदिर से डेढ़ किमी दूरी पर स्थित ध्यान गुफा में साधना शुरू की थी। रविवार सुबह 17 घंटे की साधना के बाद वह केदारनाथ मंदिर पहुंचे। इसके बाद उन्होंने एक बार फिर केदारनाथ के दर्शन किये। केदारनाथ के दर्शन के बाद मोदी पत्रकारों से रूबरू हुए। 

चुनाव आयोग का आभार जताया

पत्रकारों से बात करते हुए मोदी ने सबसे पहले चुनाव आयोग की अनुमति का आभार व्यक्त किया कि, चुनाव के बीच उन्हें यहां आने का मौका मिला। यह पूछे जाने पर कि बाबा केदार से आपने क्या मांगा, मोदी बोले, ''मैं कुछ नहीं मांगता । मैं मांगने की प्रवृत्ति से सहमत भी नहीं हूं । क्योंकि उसने आपको मांगने योग्य नहीं,  देने योग्य बनाया है। ईश्वर ने उसे देने योग्य क्षमता दी है, उसे वह समाज को देना चाहिए।
  
यहां आना मेरा सौभाग्य

मोदी ने कहा कि यह उनका सौभाग्य है कि केदारनाथ की आध्यात्मिक चेतना की भूमि पर उन्हें कई वर्षों से आने का अवसर मिलता रहा है । गुफा में बिताये समय का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा, इस दौरान वह बाहर के वातावरण से पूरी तरह कटे रहे। वहां कोई कम्युनिकेशन नहीं था। गुफा की एक छोटी सी खिड़की से 24 घंटे केदारनाथ के दर्शन होते रहते हैं।

पुनर्निर्माण में लगी है समर्पित टीम

मोदी ने कहा कि केदारनाथ में पुनर्निर्माण के काम के लिये एक समर्पित लगी हुई है। वह स्वयं भी समय-समय पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से वहां चल रहे कार्यों की निगरानी करते रहते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि यहां 50 से 52 फीट तक बर्फ गिरती है और माइनस 20 से 25 डिग्री तापमान पहुंच जाता है। ऐसे में काम करना आसान बात नहीं है। कपाट खुलने के बाद बहुत लोग दर्शन के लिये पहुंचते हैं लेकिन जो सैकड़ों लोग उन्हें सुविधा प्रदान करते हैं, उनका भी बड़ा योगदान है । मोदी ने कहा, केदारनाथ में काम ठीक चल रहा है। मैं अपेक्षा करता हूं कि लोग सिंगापुर और दुबई जाने के अलावा केदारनाथ भी आएं। 

प्रकृति, पयार्वरण और पर्यटन मेरा मिशन : मोदी

प्रधानमंत्री ने कहा कि केदारनाथ के लिए मेरा मिशन प्रकृति, पर्यावरण और पर्यटन है। इसी के तहत यहां काम किया जा रहा है।

Exit Polls 2019: कर्नाटक में भाजपा को जबर्दस्त फायदा, UPA को नुकसान

सत्ता में आने के लिए विपक्ष एकजुट, सोनिया-राहुल से मिलेंगी मायावती

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Prime Minister Narendra Modi said I have not asked anything from Baba Kedar