DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राष्ट्रपति कोविंद का दोनों सदनों को संबोधन, 'एक राष्ट्र-एक चुनाव' समय की मांग

                                                                      dd news

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind) ने गुरुवार को संसद के दोनों सदनों को संबोधित करते हुए कहा कि समय की मांग है कि एक राष्ट्र-एक चुनाव की व्यवस्था लाई जाए जिससे देश का विकास तेज़ी से हो सके और देशवासी लाभान्वित हो सकें। ऐसी व्यवस्था होने पर सभी राजनैतिक दल अपनी विचारधारा के अनुरूप, विकास तथा जनकल्याण के कार्यों में अपनी ऊर्जा का और अधिक उपयोग कर पाएंगे।

उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर इस वर्ष, दुनिया भर में आयोजित हो रहे कार्यक्रमों से भारत के वैचारिक नेतृत्व को बढ़ावा मिलेगा। इसी प्रकार, गुरु नानक देव जी की 550वीं जयंती के कार्यक्रमों से भी, भारत के आध्यात्मिक ज्ञान का प्रकाश पूरे विश्व में फैलेगा।

ये भी पढ़ें: राष्ट्रपति कोविंद बोले, पहली बार किसी सरकार ने छोटे दुकानदारों की आर्थिक सुरक्षा पर दिया ध्यान

रामनाथ कोविंद ने कहा कि अवैध तरीके से भारत में दाखिल हुए विदेशी, आतंरिक सुरक्षा के लिए बहुत बड़ा खतरा हैं। सरकार ने यह तय किया है कि घुसपैठ की समस्या से जूझ रहे क्षेत्रों में राष्ट्रीय नागरिक पंजी की प्रक्रिया को प्राथमिकता के आधार पर अमल में लाया जाएगा।

राष्ट्रपति ने कहा कि सीमा पार आतंकवादी ठिकानों पर, पहले सर्जिकल स्ट्राइक और फिर पुलवामा हमले के बाद एयर स्ट्राइक करके भारत ने अपने इरादों और क्षमताओं को प्रदर्शित किया है। भविष्य में भी अपनी सुरक्षा के लिए हरसंभव कदम उठाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि मेरी सरकार, सेना और सशस्त्र बलों के आधुनिकीकरण के काम को तेज़ी से आगे बढ़ा रही है। निकट भविष्य में ही भारत को पहला राफेल लड़ाकू विमान और 'अपाचे हेलीकॉप्टर भी मिलने जा रहे हैं।

दोनों सदनों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि सैनिकों और उनके परिवार-जनों का ध्यान रखने की हर संभव कोशिश की जा रही है। 'वन रैंक वन पेंशन के माध्यम से पूर्व सैनिकों की पेंशन में बढ़ोतरी करके तथा उनकी स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार करके, उनके जीवन को बेहतर बनाने का प्रयास किया जा रहा है।

राष्ट्रपति ने कहा कि भारतमाला परियोजना के तहत वर्ष 2022 तक लगभग 35 हज़ार किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्ग का निर्माण या उन्नयन किया जाना है। साथ ही, 'सागरमाला परियोजना के तहत तटीय क्षेत्रों में और बंदरगाहों के आसपास, बेहतर सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:president ramnath kovind speech in parliament both houses