DA Image
30 मार्च, 2020|7:32|IST

अगली स्टोरी

प्रयागराज से राम मंदिर का मॉडल लेकर अयोध्या जाएंगे शंकराचार्य

Swaroopanand Saraswati

शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती शिवरात्रि के बाद शुभ मुहूर्त में राम मंदिर का मॉडल लेकर प्रयागराज से अयोध्या जाएंगे। शंकराचार्य के प्रतिनिधि स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती ने फोन पर बताया कि मंदिर का बाल मॉडल बनकर तैयार है। जल्द ही इसे मीडिया के समक्ष प्रस्तुत करने के बाद अयोध्या प्रस्थान की तारीख घोषित करेंगे।

शंकराचार्य ने अंकोरवाट की तरह भव्य मंदिर बनवाने की इच्छा जताई है। जब तक मंदिर नहीं बन जाता तब तक चंदन की लकड़ी से बन रहे बालमंदिर में रामलला के विग्रह को रखा जाएगा। बाल मंदिर का आकार 24×24×36 फुट का है, जिसके मध्य रामलला विराजमान का 6×6×9 फुट का स्वर्णमंडित सिंहासन है। इसे रथ पर रखकर शंकराचार्य रवाना होंगे।

माघ मेले के दौरान स्वामी अविमुक्तश्वेरानंद सरस्वती ने केंद्र सरकार से मांग थी कि अयोध्या में रामजन्मभूमि पर मंदिर निर्माण का जिम्मा अयोध्या श्रीरामजन्मभूमि रामालय न्यास को दें। हालांकि सरकार ने इस ट्रस्ट को जिम्मा देना तो दूर नवगठित ट्रस्ट में शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती को शामिल भी नहीं किया है। इसे लेकर नाराजगी है।

2019 में भी अयोध्या कूच का किया था ऐलान
शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती ने पिछले साल कुम्भ के दौरान 30 जनवरी 2019 को परमधर्म संसद में 21 फरवरी 2019 को अयोध्या में राम मंदिर के शिलान्यास की घोषणा की थी। 10 फरवरी के बाद उन्हें प्रयागराज से प्रस्थान करना था लेकिन बाद में प्रशासन के अफसरों ने वाराणसी में शंकराचार्य से कानून व्यवस्था का हवाला देते हुए यात्रा स्थगित करने का अनुरोध किया था। जिस पर वह मान गए थे। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Prayagraj Ram Temple Model Ayodhya Shankaracharya Swaroopanand Saraswati