DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रधानमंत्री आवास योजनाः 2020 से पहले 1 करोड़ घरों को मंजूरी देने की तैयारी

प्रधानमंत्री आवास योजना

केंद्रीय शहरी एवं आवास मंत्रालय ने वर्ष 2018 में कई योजनाओं की शुरुआत की। इसी क्रम में अब एक करोड़ घरों के निर्माण को मंजूरी देने की तैयारी है। यह घर ‘प्रधानमंत्री आवास योजना’ (शहरी क्षेत्र) के तहत बनाए जाएंगे, ताकि ‘2022 तक सबके लिए घर’ कार्यक्रम को पूरा किया जा सके।

मंत्रालय ने कई प्रमुख कार्यक्रमों और योजनाओं का तेजी से क्रियान्वयन अनिवार्य कर दिया है। इसमें स्वच्छ भारत मिशन, प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी क्षेत्र), स्मार्ट सिटी, राष्ट्रीय धरोहर शहर योजना, अटल अभियान के तहत शहरी परिवहन कायाकल्प योजना आदि शामिल हैं। 

योजना के तहत घरों की मौजूदा स्थिति

68.5 लाख घरों के निर्माण को पहले ही मंजूरी दी जा चुकी
35.67 लाख घरों का निर्माण विभिन्न स्तरों पर पहुंच चुका
12.45 लाख घरों का निर्माण अब तक पूरा हो चुका 

आवास योजना में खर्च होने वाली राशि

3,56,397 करोड़ रुपए खर्च किए जाने हैं
1,00,275 करोड़ रुपए केंद्र सरकार ने किए मंजूर
33,455 करोड़ रुपए राज्यों को जारी किए जा चुके

शहरी परिवहन का परिदृश्य

10 शहरों में 536 किलोमीटर क्षेत्र में दौड़ रही है मेट्रो। इनमें दिल्ली-एनसीआर, बेंगलुरु, हैदराबाद, कोलकाता, चेन्नई, जयपुर, कोच्चि, लखनऊ, मुंबई शामिल। 16,408 करोड़ रुपए भोपाल, इंदौर और दिल्ली मेट्रो के विस्तार के लिए मंजूर किए गए।

1,612 शहर खुले में शौच मुक्त

मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अप्रैल 2018 से अब तक 1,612 शहर खुले में शौच मुक्त घोषित किया जा चुके हैं, जबकि स्वच्छ भारत मिशन के तहत 4,124 शहरों को शामिल किया गया है। अधिकारी के अनुसार 62 लाख घरों में एवं 5 लाख सार्वजनिक शौचालयों का निर्माण पूरा हो चुका है या लगभग होने को है। 21 राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के शहरी क्षेत्र खुले में शौच मुक्त घोषित किए जा चुके हैं। इनमें अंडमान एवं निकोबार, दादर एवं नागर हवेली, चंडीगढ़, आंध्र प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, गुजरात, हरियाणा और झारखंड शामिल हैं।

शहरों में स्वच्छता की प्रतिस्पर्धा

मंत्रालय ने 2017 में ‘स्वच्छ सर्वेक्षण’ की भी शुरुआत की, जिसका उद्देश्य शहरों के बीच स्वच्छता की प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा देना है। इंदौर शहर लगातार दो वर्ष देश में पहले नंबर पर रहा। इसका तीसरा चरण 4 जनवरी से 10 मार्च तक संपन्न किाय गया जिसमें देशके 4,203 शहर शामिल किए गए। स्वच्छ सर्वेक्षण 2019 की शुरुआत 13 अगस्त 2018 को की गई, जो 4 जनवरी 2019 को परा होगा।

PM ने कांग्रेस को लिया आड़े हाथ, बोले- चौकीदार कर रहा ईमानदारी से काम

अपना दल ने किया साफ, भाजपा के साथ मिलकर लड़ेगा लोकसभा चुनाव

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Pradhanmantri Awas Yojana Preparation for sanctioning 10 million homes before 2020