ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशप्रोटेम स्पीकर, NET और NEET पर हंगामे के आसार; पहले सत्र के लिए लोकसभा तैयार

प्रोटेम स्पीकर, NET और NEET पर हंगामे के आसार; पहले सत्र के लिए लोकसभा तैयार

Lok Sabha Session: भर्तृहरि महताब को अस्थाई अध्यक्ष बनाए जाने की विपक्ष ने कड़ी आलोचना की है और आरोप लगाया है कि सरकार ने इस पद के लिए कांग्रेस सांसद के. सुरेश के दावे की अनदेखी की।

प्रोटेम स्पीकर, NET और NEET पर हंगामे के आसार; पहले सत्र के लिए लोकसभा तैयार
budget session tomorrow all parliament suspensions to be revoked
Nisarg Dixitहिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 24 Jun 2024 06:47 AM
ऐप पर पढ़ें

अठारहवीं लोकसभा का पहला सत्र सोमवार से शुरू हो रहा है। सत्र में पहले दो दिन नवनिर्वाचित सदस्यों को शपथ दिलाई जाएगी। बुधवार यानी 26 जून को लोकसभा अध्यक्ष का चुनाव होगा। नए अध्यक्ष के चुनाव के बाद 27 जून को राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु संसद के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक को संबोधित करेंगी। इसके बाद संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही शुरू होगी।

भाजपा नेता एवं सात बार के सांसद भर्तृहरि महताब लोकसभा के अस्थायी अध्यक्ष (प्रोटेम स्पीकर) नियुक्त किए गए हैं। महताब की अध्यक्षता में ही लोकसभा के नए अध्यक्ष का चुनाव होगा। हालांकि, महताब को प्रोटेम स्पीकर बनाने को लेकर विपक्ष ने अपनी नाराजगी जताई है। विपक्ष का कहना है कि कांग्रेस के आठ बार के सांसद के. सुरेश की अनदेखी की गई है।

संसद के पहले दो दिनों में शोरगुल की उम्मीद कम है। पर अध्यक्ष पद के चुनाव को लेकर सत्तापक्ष और विपक्ष में टकराव हो सकता है। अध्यक्ष पद के चुनाव को लेकर विपक्ष ने अभी रुख साफ नहीं किया है। हालांकि, विपक्ष ने उपाध्यक्ष पद पर अपनी दावेदारी जताई है। कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि अध्यक्ष पद के चुनाव को लेकर गठबंधन के नेताओं से चर्चा के बाद अपना रुख साफ करेंगे।

आज क्या होगा
राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु सोमवार को राष्ट्रपति भवन में भर्तृहरि महताब को लोकसभा के प्रोटेम स्पीकर के रूप में शपथ दिलाएंगी। संसद की कार्यवाही शुरू होने पर लोकसभा के महासचिव सदन के नवनिर्वाचित सदस्यों की सूची सदन के पटल पर रखेंगे। इसके बाद प्रोटेम स्पीकर सबसे पहले लोकसभा के नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सदस्यता की शपथ लेने का आग्रह करेंगे। इसके बाद राष्ट्रपति की ओर से नियुक्त अध्यक्षों की समिति के सदस्यों को शपथ दिलाई जाएगी। इस समिति में के. सुरेश, टीआर बालू, राधा मोहन सिंह, फग्गन सिंह कुलस्ते और सुदीप बंदोपाध्याय शामिल हैं। अध्यक्षों की समिति के सदस्य के तौर पर 26 जून को लोकसभा अध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया पूरी होने तक सदन की कार्यवाही चलाने में मदद करेंगे।

बुधवार को संयुक्त बैठक
लोकसभा के नवनिर्वाचित सदस्यों के शपथ लेने के बाद बुधवार को राष्ट्रपति मुर्मु संसद के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक को संबोधित करेंगी। इसके बाद 28 जून से संसद के दोनों सदनों में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा शुरू होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकसभा में दो और राज्यसभा में तीन जुलाई को अभिभाषण पर चर्चा का जवाब दे सकते हैं।

पहले दिन से टकराव
नई लोकसभा के पहले दिन से इंडिया गठबंधन सरकार पर दबाव बनाने की शुरुआत कर सकता है। लोकसभा में सबसे अनुभवी सांसद के. सुरेश को प्रोटेम स्पीकर नहीं बनाने से नाराज विपक्ष सदस्यों के शपथ ग्रहण के समय असहयोग कर सकता है। अध्यक्ष समिति के सदस्य के तौर पर के. सुरेश, तृणमूल के सुदीप बंदोपाध्याय और डीएमके के टीआर बालू प्रोटेम स्पीकर की मदद के लिए अध्यक्ष की कुर्सी पर नहीं बैठेंगे। इंडिया गठबंधन ने यह फैसला संसदीय परंपरा को तोड़कर सबसे वरिष्ठ आठ बार के कांग्रेस सांसद के. सुरेश की जगह सात बार के भाजपा सांसद भर्तृहरि महताब को प्रोटेम स्पीकर बनाने को लेकर किया है। विपक्ष पहले ही इसको लेकर अपनी नाराजगी जता चुका है।

विपक्ष के मुद्दे
दूसरी ओर, संसद के पहले सत्र में इंडिया गठबंधन एकजुट होकर सरकार को घेरने की पूरी कोशिश करेगा। विपक्षी दल नीट में कथित धांधली, अग्निवीर योजना, एग्जिट पोल से शेयर बाजार में उछाल, बेरोजगारी और महंगाई जैसे मुद्दों पर सरकार को घेर सकते हैं। कांग्रेस नीट मुद्दे को संसद में उठाने का ऐलान कर चुकी है। वहीं, पार्टी एग्जिट पोल से शेयर बाजार में उछाल पर जेपीसी के गठन की मांग कर चुकी है।