अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

PNB घोटालाः रविशंकर प्रसाद बोले पीएम से नीरव की कोई मुलाकात नहीं हुई

ravi shankar prasad

पंजाब नेशनल बैंक में करोड़ों के घोटाले से पर्दा उठने के बाद सुर्खियों में छाए अरबपति आभूषण डिजाइनर नीरव मोदी को लेकर विपक्ष लगातार मोदी सरकार पर हमलावर है। नीरव मोदी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दावोस में मुलाकात की बातें भी कही जा रही हैं। नीरव मोदी की पीएम मोदी से मुलाकात को सिरे से नकारते हुए केंद्रीय मंत्री ने विपक्ष पर पलटवार किया है।
 
रविशंकर प्रसाद ने कहा कि मोदी सरकार में दिया एक भी लोन नहीं डूबा है। पीएनबी घोटाले से जुड़े किसी भी शख्स को बख्शा नहीं जाएगा। नीरव मोदी से जुड़ी 9 संपत्तियां सील कर दी गई हैं। संबंधित लोगों के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया गया है।

उन्होंने कहा कि बैंक के सिस्टम में किसी का कद या पद कुछ भी हो, जो भी इस घोटाले में संलिप्त पाया जाएगा। उसे बख्शा नहीं जाएगा। कांग्रेस क्या कहना चाहती है? छोटा मोदी का क्या मतलब है? इस देश में बहुत सारे लोगों का सरनेम मोदी होगा। पीएम से नीरव की कोई मुलाकात नहीं हुई है।

उन्होंने कहा कि विजय माल्या कांग्रेस सरकार के प्रधानमंत्री को धन्यवाद के पत्र लिख रहे हैं और आरोप हम पर लगाए जा रहे हैं। मोदी सरकार में कोई ऐसा कर्ज नहीं दिया गया है जो एनपीए हुआ है। इस घटना की शुरुआत 2011 में शुरू थी। कुछ लोगों ने बैंक के सिस्टम में बाइपास किया है। मैं पूछना चाहूंगा कि जो गीतांजलि के मालिक हैं, क्या यह सच्चाई नहीं है कि 2011-13 के दौरान इनकी आमदनी दोगुनी हो गई थी? किसका आशीर्वाद था?

कांग्रेस पार्टी से कहना चाहूंगा कि जिनके घर ऐसे शीशे के हों जो टुकड़े-टुकड़े हो चुके हैं, वे पत्थर फेंकना बंद कर दें। सरकार ईमानदारी से काम कर रही है और करती रहेगी।

नीरव और उसके परिवार को पहले से थी गिरफ्तारी की भनक

अरबपति आभूषण डिजाइनर नीरव मोदी बैंक की ओर से इस मामले में शिकाय​त मिलने से काफी दिन पहले एक जनवरी को ही देश से बाहर चला गया था। उसे अंदेशा था कि अाने वाले समय में उसकी गिरफ्तारी निश्चित है। अधिकारियों का कहना है कि पीएनबी ने 280 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के बारे में 29 जनवरी को केंद्रीय जांच ब्यूरो सीबीआई को शिकायत की थी।

नीरव का भाई निशल बेल्जियम के नागरिक हैं।  वह भी एक जनवरी को देश छोड़ कर चला गया। उसकी पत्नी और अमेरिकी ना​​गरिक एमी तथा गीतांजलि जूलरी स्टोर शृंखला चलाने वाली फर्म में  भागीदारी मेहुल चोकसी छह जनवरी को देश से बाहर चले गए। इस मामले में पहली एफआईआर दर्ज करने के बाद एजेंसी ने इन चारों के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी किया था ताकि देश से बाहर जाने आने के रास्तों पर इनपर नजर रखी जा सके। ऐसा माना जा रहा है कि नीरव मोदी स्विटजरलैंड में हैं।

पीएम मोदी के दावोस दौरे की तस्वीर पर बखेड़ा

आरोपी नीरव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ दावोस (स्विट्जरलैंड) में नामी भारतीय कंपनियों के मुख्य कार्यपालकों (सीईओ) के समूह के साथ फोटो में शामिल है। वर्ल्ड इकोनामिक फोरम के सम्मेलन की इस फोटो को 23 जनवरी को प्रेस सूचना ब्यूरो ने जारी किया था। इसके छह दिन बाद ही पंजाब नेशनल बैंक ने नीरव के खिलाफ पहली शिकायत जारी की थी।

अधिकारियों का कहना है कि नीरव मोदी तो भारतीय नागरिक हैं लेकिन उनके भाई निशल तथा पत्नी एमी भारतीय नागरिक नहीं हैं। नीरव मोदी 2013 से ही धन व चर्चित भारतीयों की सूची में लगातार आते रहे हैं। सीबीआई ने नीरव, उनकी पत्नी, भाई व कारोबार भागीदारी चोकसी के खिलाफ 31 जनवरी को मामला दर्ज किया था। यह मामला पंजाब नेशनल बैंक से कथित रूप से 280 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का है। बैंक ने मंगलवार को सीबीआई को भेजी दो और शिकायतों में कहा कि यह घोटाला 11,400 करोड़ रुपये का है।

PNB स्कैम: जानें, कौन है नीरव मोदी और कैसे हुआ 11,500 करोड़ का घोटाला

PNB धोखाधड़ी: अरबपति ज्वैलर नीरव मोदी के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का केस

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:PNB scam row Ravi Shankar Prasad said PM Modi did not meet Neerav Modi in Davos