ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशPM Modi Total Assets: पीएम मोदी के पास नहीं है अपना घर, कुल इतने करोड़ है संपत्ति

PM Modi Total Assets: पीएम मोदी के पास नहीं है अपना घर, कुल इतने करोड़ है संपत्ति

प्रधानमंत्री मोदी ने मंगलवार को वाराणसी सीट से अपना नामांकन दाखिल किया। जिसके बाद उनका चुनावी हलफनामा सामने आया है। हलफनामे में, पीएम मोदी ने कुल 3.02 करोड़ रुपये की संपत्ति घोषित की है।

PM Modi Total Assets: पीएम मोदी के पास नहीं है अपना घर, कुल इतने करोड़ है संपत्ति
Amit Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 14 May 2024 10:48 PM
ऐप पर पढ़ें

PM Narendra Modi Total Net worth 2024: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कुल संपत्ति 3 करोड़ रुपये से अधिक है, लेकिन उनके पास अपनी कोई जमीन, घर या कार नहीं है। अपने चुनावी हलफनामे में पीएम मोदी ने ये जानकारी दी। प्रधानमंत्री ने मंगलवार को वाराणसी सीट से अपना नामांकन दाखिल किया। जिसके बाद उनका चुनावी हलफनामा सामने आया है। हलफनामे में, पीएम मोदी ने कुल 3.02 करोड़ रुपये की संपत्ति घोषित की है। हलफनामे में उनके पास 3.02 करोड़ रुपये से अधिक की चल और अचल संपत्ति है, जिसमें भारतीय स्टेट बैंक (SBI) में दो करोड़ 89 लाख 45 हजार 598 रुपये की सावधि जमा (फिक्स्ड डिपॉजिट) शामिल है। उनके हाथ में कुल नकदी 52,920 रुपये हैं और गांधीनगर और वाराणसी में उनके दो बैंक खातों में 80,304 रुपये जमा हैं।

प्रधानमंत्री की अन्य संपत्तियों में 45 ग्राम वजन वाली चार सोने की अंगूठियां शामिल हैं, जिनकी कीमत दो लाख 67 हजार रुपये है। उनके पास कुल 52 हजार 920 रुपये नकद और नौ लाख 12 हजार रुपये के राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र हैं। पिछले वित्तीय वर्ष में उन्होंने तीन लाख 33 हजार रुपये आयकर चुकाया है। चुनावी शपथपत्र में अचल संपत्ति के खाने में 'शून्य' लिखा है। आम तौर पर, जमीन और घर इस तरह की संपत्ति की श्रेणी में आते हैं।

शपथ पत्र में मोदी की पत्नी के रूप में जशोदाबेन के नाम का उल्लेख किया गया है। जशोदाबेन के पास मौजूद संपत्तियों के बारे में उन्होंने "ज्ञात नहीं" लिखा है। दोनों अलग-अलग रहते हैं। शपथपत्र के अनुसार, मोदी के खिलाफ कोई आपराधिक मामला लंबित नहीं है, न ही उन्हें किसी अपराध के लिए दोषी ठहराया गया है। सरकार के प्रति उनकी कोई देनदारी भी नहीं है।

शपथ पत्र के मुताबिक प्रधानमंत्री अहमदाबाद के निवासी हैं और राजनीति उनका पेशा है। चुनावी हलफनामे में दिए गए शैक्षणिक विवरण के मुताबिक मोदी ने साल 1967 में एसएससी किया, 1978 में दिल्ली विश्वविद्यालय से बीए की डिग्री प्राप्त की और 1983 में गुजरात विश्वविद्यालय से एमए किया।

वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में मोदी ने गुजरात के गांधीनगर में एक आवासीय भूखंड, 1.27 करोड़ रुपये की सावधि जमा और 38,750 रुपये नकद सहित 2.50 करोड़ रुपये की संपत्ति घोषित की थी। इसके अलावा 2014 के लोकसभा चुनाव में उन्होंने कुल 1.65 करोड़ रुपये की संपत्ति का खुलासा किया था। शपथपत्र के अनुसार प्रधानमंत्री की एक वेबसाइट है और वह फेसबुक, माइक्रोब्लॉगिंग साइट एक्स, यूट्यूब, इंस्टाग्राम और व्हाट्सएप पर सक्रिय हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने वाराणसी से नामांकन किया

प्रधानमंत्री मोदी ने लोकसभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) शासित राज्यों के करीब आधा दर्जन मुख्यमंत्रियों, भाजपा अध्यक्ष, कई केंद्रीय मंत्रियों और राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के विभिन्न घटक दलों के नेताओं की मौजूदगी में मंगलवार को वाराणसी से अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। उन्होंने कहा कि वह तीसरे कार्यकाल में नई ऊर्जा के साथ जनता के कल्याण के लिए काम करेंगे।

गंगा सप्तमी के मौके पर मां गंगा को नमन करने के उपरांत प्रधानमंत्री काशी के कोतवाल काल भैरव के दर पर पहुंचे। वहां पूजा करने के बाद वह विभिन्न राजनीतिक दिग्गजों के साथ शक्ति प्रदर्शन करते हुए जिला अधिकारी कार्यालय पहुंचे जहां उन्होंने अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। प्रधानमंत्री ने सोमवार को काशी विश्वनाथ से एवं मंगलवार को काल भैरव से लोकसभा चुनाव में भाजपा की प्रचंड जीत के लिए आशीर्वाद भी मांगा। वाराणसी संसदीय सीट पर मोदी ने 2014 में पहली बार और 2019 में दूसरी बार जीत हासिल की थी।

नामांकन दाखिल करते समय प्रधानमंत्री मोदी के साथ, अयोध्या के राम मंदिर में भगवान राम लला के विग्रह की प्राणप्रतिष्ठा का मुहूर्त निकालने वाले पंडित गणेश्वर शास्त्री और पटेल जनसंघ के समय के पुराने कार्यकर्ता और पिछड़ा वर्ग के नेता बैजनाथ पटेल मौजूद थे। गणेश्वर शास्त्री द्रविड़, बैजनाथ पटेल, लालचंद कुशवाहा व दलित समाज के संजय सोनकर प्रधानमंत्री के नामांकन के चार प्रस्तावक हैं। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के जिला मीडिया सह प्रभारी अरविंद मिश्रा ने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी ने नामांकन पत्र जिलाधिकारी को सौंपने के बाद खड़े होकर शपथ पत्र पढ़ा।

(इनपुट एजेंसी)

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें