DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फिर सामने आई ममता की केंद्र से तल्खी, आयुष्मान भारत योजना से अलग होगा पश्चिम बंगाल

ममता बनर्जी(पीटीआई फोटो)

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को ऐलान किया कि राज्य ने केंद्र की आयुष्मान भारत योजना से बाहर आने का फैसला किया है। साथ ही नरेंद्र मोदी नीत राजग सरकार पर स्वास्थ्य बीमा कार्यक्रम के तहत बड़े-बड़े दावे करने का आरोप लगाया।

सरकार के एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि तृणमूल कांग्रेस सरकार (टीएमसी) ने योजना से अलग होने के अपने निर्णय के बारे में जानकारी देने के लिए केंद्र को पत्र लिखा है। टीएमसी ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री ने प्रत्येक घर में योजना के बारे में बताने के लिए पत्र भेजा है, जिसमें उनकी फोटो और कमल का चिन्ह है।

ऐसा करके उन्होंने स्वास्थ्य योजना का राजनीतिकरण किया है। बनर्जी ने कहा कि केंद्र इन पत्रों को भेजने के लिए डाक कार्यालयों का इस्तेमाल कर रही है।  केंद्र सरकार राज्य के हर घर में अपनी तस्वीरों को लगाकर पत्र भेज रहे हैं और योजना का श्रेय लेने के लिए बड़े-बड़े वायदे कर रहे हैं, तो फिर राज्य 40 प्रतिशत का खर्च क्यों वहन करें? राजग सरकार को पूरी जिम्मेदारी लेनी चाहिए।

बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले साल अगस्त में महत्वाकांक्षी आयुष्मान भारत या राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण योजना का शुभारंभ किया था। इसका लक्ष्य प्रति परिवार का पांच लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा कराकर 10 करोड़ से ज्यादा गरीब और वंचित परिवारों को (करीब 50 करोड़ लाभार्थी को) इस योजना के दायरे में लाना है। इस योजना के तहत 60 प्रतिशत खर्च केंद्र और 40 फीसदी व्यय राज्य वहन करता है।

पीएम मोदी की अगुवाई वाली समिति ने आलोक वर्मा को CBI चीफ के पद से हटाया

भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक कल से,पीएम मोदी देंगे जीत का मंत्र

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:PM Narendra Modi taking credit for Ayushman Bharat says Mamata West Bengal exits scheme