DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कर्नाटक में PM मोदी ने की मजबूत सरकार की वकालत, राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर जोर

pm narendra modi addressing a public meeting in mysore  karnataka   bjp twitter april 9  2019

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे को रेखांकित करते हुए मंगलवार को केंद्र में मजबूत सरकार की वकालत की और कहा कि बालाकोट हवाई हमले ने आतंकवादियों में भय पैदा कर दिया है तथा पाकिस्तान में सत्ता में बैठे लोगों को बुरे सपने आने लगे हैं। चित्रदुर्ग और मैसूरू में चुनाव रैलियों को संबोधित करते हुए मोदी ने देश में पहली बार मतदान करने वाले युवाओं से कहा कि वे देश में मजबूत सरकार लाने के लिए सोच-समझकर वोट दें। उन्होंने कहा, ''आप अपना पहला वोट देश के लिए अपना बलिदान करने वाले सैनिकों, गरीबों को घर दिलाने, गरीबों की स्वास्थ्य देखभाल, किसानों के खेतों को पानी मिलने के लिए समर्पित कर सकते हो। आपका पहला वोट आपके किसी मित्र को मुद्रा ऋण मिलने के लिए जाना चाहिए।"

यह उल्लेख करते हुए कि देश हित के लिए केवल मजबूत सरकार ही कड़े निर्णय ले सकती है, मोदी ने पुलवामा हमले के जवाब में किए गए बालाकोट हवाई हमले का जिक्र किया। मोदी ने कहा, ''पांच साल पहले समय था जब आतंकवादी हम पर हमला करते थे और पाकिस्तान हमें धमकी देता रहता था। हमारे वीर सैनिक कार्रवाई की अनुमति मांगते रहते थे, लेकिन तब सरकार डरी रहती थी।" उन्होंने कहा, ''इस चौकीदार ने स्थिति बदल दी है। अब यदि डर है तो वह सीमा के दूसरी ओर है। वहां सत्ता में बैठे लोगों को तरह-तरह के बुरे सपने आ रहे हैं...बालाकोट हमले के बाद आतंकवादी डरे हुए हैं।"

अपने संबोधन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर केंद्रित रखते हुए मोदी ने भीड़ से पूछा, ''जब हमने पाकिस्तान में आतंकवादियों पर हमला किया तो आपको पसंद आया या नहीं? क्या आप खुश हो? क्या मैंने सही किया?" इस पर भीड़ की तरफ से 'हां' में आवाज आई। मोदी ने कहा कि विपक्ष ने देश को अमेरिका, रूस और चीन की तरह अंतरिक्ष शक्ति बनाने वाले 27 मार्च के ए-सैट (उपग्रह भेदी) परीक्षण 'मिशन शक्ति का भी मजाक उड़ाया।

उन्होंने कहा, ''विपक्ष ने जिस तरह बालाकोट हवाई हमले का मजाक उड़ाया, उसी तरह उसने अंतरिक्ष में किए गए हमले का भी मजाक उड़ाया। समूचा विश्व इस बात से सहमत हुआ कि भारत ने अंतरिक्ष से संबंधित एक उपलब्धि हासिल की है, लेकिन मोदी का विरोध करने की अपनी आदत के चलते वे (विपक्ष) भारत का भी विरोध कर रहे हैं।" प्रधानमंत्री ने कहा कि जब ये लोग विपक्ष में थे तो उनमें वैज्ञानिकों को मिसाइल परीक्षण की अनुमति देने तक का 'साहस' नहीं था। लेकिन अब जब भारत ने अंतरिक्ष हमला किया तो उन्होंने सबसे पहले इस पर प्रश्न उठाया। उन्होंने कहा, ''ये लोग न तो जवानों का सम्मान करते हैं, न विज्ञान का सम्मान करते हैं जिन्हें भारत के गौरव की परवाह नहीं है, उन्हें सबक सिखाया जाना आवश्यक है।"

मोदी ने मैसूरू रैली में कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि उसकी दृष्टि और एजेंडा ''मोदी हटाओ है जिसे महामिलावट (विपक्षी दलों के महागठबंधन की ओर इशारा करते हुए) के सहयोगियों द्वारा भी साझा किया गया।" उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी कांग्रेस के लिए ''पंचिंग बैग बन गए हैं। मोदी ने कहा कि यद्यपि कांग्रेस राज्य में जदएस के साथ सत्ता साझा कर रही है लेकिन राहुल गांधी ने अपनी पारंपरिक सीट अमेठी के अलावा दूसरी सीट से चुनाव लड़ने के लिए कर्नाटक की बजाय केरल का चयन किया।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष ने कर्नाटक से लोकसभा चुनाव इस भय से नहीं लड़ा कि कहीं जदएस प्रमुख एच डी देवेगौड़ा सोनिया गांधी द्वारा ''पीठ में छुरा भोंकने का प्रतिशोध न ले लें जब उन्हें प्रधानमंत्री पद से हटा दिया गया था।" मोदी ने दावा किया कि ऐसा इसलिए क्योंकि कांग्रेस को भय था कि गौड़ा कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा ''पीठ में छुरा भोंके" जाने का प्रतिशोध ले सकते हैं जब उन्हें 1996 में प्रधानमंत्री पद से हटा दिया गया था। उस समय वह संयुक्त मोर्चा सरकार का नेतृत्व कर रहे थे। उन्होंने राहुल गांधी के केरल के वायनाड से दूसरी सीट के तौर पर चुनाव लड़ने का उल्लेख करते हुए कहा कि आज कोई भी कांग्रेस की दुर्दशा की कल्पना कर सकता है जब उसके वर्तमान अध्यक्ष की वर्तमान सीट भी खतरे में है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:PM Narendra Modi pitches for strong govt highlights national security