ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशचीन की घुड़की दरकिनार, दलाई लामा से मिलने वाले अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल से मिले पीएम मोदी

चीन की घुड़की दरकिनार, दलाई लामा से मिलने वाले अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल से मिले पीएम मोदी

अमेरिकी कांग्रेस के 7 सदस्यों के दलाई लामा से मुलाकात के बाद सम्मान समारोह आयोजित हुआ। इसमें मैककॉल ने कहा कि प्रतिनिधिमंडल ने चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की चेतावनी को खारिज कर दिया है।

चीन की घुड़की दरकिनार, दलाई लामा से मिलने वाले अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल से मिले पीएम मोदी
Niteesh Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 21 Jun 2024 11:06 AM
ऐप पर पढ़ें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिकी कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने मुलाकात की। ध्यान देने वाली बात है कि यह प्रतिनिधिमंडल तिब्बतियों के धर्मगुरु दलाई लामा से मिला था। अमेरिकी संसद की विदेश मामलों की समिति के अध्यक्ष माइकल मैककॉल ने कहा कि तिब्बती लोगों को आत्मनिर्णय का अधिकार है। साथ ही, उन्हें अपने धर्म का स्वतंत्र रूप से पालन करने की अनुमति देनी चाहिए। इस पर चीन भड़का हुआ है। बीजिंग ने दलाई लामा से कहा कि वह बातचीत के लिए अपने राजनीतिक प्रस्तावों पर विचार करते हुए उन्हें पूरी तरह से दुरुस्त करें। साथ ही उसने अमेरिका से कहा कि वह तिब्बत से जुड़े मुद्दों के प्रति संवेदनशीलता का सम्मान करे। मालूम हो कि 1959 में हिमालयी क्षेत्र से भागने के बाद से दलाई लामा भारत में रहते हैं।

अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल ने लगातार तीसरी बार प्रधानमंत्री बनने पर मोदी को बधाई भी दी। साथ ही प्रतिनिधिमंडल ने भारत में हाल ही में संपन्न आम चुनावों की सफलता की पुरजोर सराहना की। प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) ने बयान में कहा, 'हाउस फॉरेन अफेयर्स कमेटी के अध्यक्ष प्रतिनिधि माइकल मैककॉल के नेतृत्व में 7 सदस्यीय अमेरिकी कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने भारत-अमेरिका संबंधों को सबसे महत्वपूर्ण बताया। साथ ही व्यापार, नई टेक्नोलॉजी, रक्षा, जन-जन के बीच आदान-प्रदान सहित सभी क्षेत्रों में व्यापक रणनीतिक वैश्विक साझेदारी को और गहरा करने के लिए अपना मजबूत समर्थन व्यक्त किया।' अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की पूर्व अध्यक्ष नैंसी पेलोसी भी इस प्रतिनिधिमंडल में शामिल थीं। इसके अलावा ग्रेगरी मीक्स, मैरिएनेट मिलर-मीक्स, निकोल मैलियोटाकिस, अमरीश बाबूलाल और जिम मैकगवर्न शामिल हुए। 

भारत-अमेरिका संबंधों को आगे बढ़ाने पर जोर
बयान में कहा गया कि प्रधानमंत्री मोदी ने भारत-अमेरिका संबंधों को आगे बढ़ाने में अमेरिकी कांग्रेस के समर्थन से निभाई गई महत्वपूर्ण भूमिका पर प्रकाश डाला। यह साझा लोकतांत्रिक मूल्यों, कानून के शासन के सम्मान और जन-जन के बीच मजबूत संबंधों पर आधारित है। उन्होंने वैश्विक भलाई के लिए द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत करने की प्रतिबद्धता दोहराई। पीएम मोदी ने प्रतिनिधिमंडल के साथ एक तस्वीर एक्स पर शेयर की। इसके कैप्शन में उन्होंने लिखा कि अमेरिकी कांग्रेस के मित्रों के साथ मुलाकात के दौरान विचारों के बहुत अच्छा आदान-प्रदान हुआ। प्रधानमंत्री ने पिछले साल जून में अमेरिका की अपनी राजकीय यात्रा को याद किया, जिसके दौरान उन्हें दूसरी बार ऐतिहासिक रूप से अमेरिकी कांग्रेस के संयुक्त सत्र को संबोधित करने का अवसर मिला था।
(एजेंसी इनपुट के साथ)