DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोकसभा चुनाव: PM मोदी का हेलीकॉप्टर जांचने वाले IAS अधिकारी को EC ने किया सस्पेंड

pm narendra modi  arabinda mahapatra   ht   photo

सम्बलपुर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हेलीकॉप्टर की कथित रूप से जांच करने के लिए निर्वाचन आयोग ने ओडिशा के जनरल पर्यवेक्षक को बुधवार को निलंबित कर दिया। आयोग की ओर से जारी आदेश के अनुसार, कर्नाटक कैडर के 1996 बैच के आईएएस अधिकारी मोहम्मद मोहसिन ने एसपीजी सुरक्षा से जुड़े निर्वाचन आयोग के निर्देश का पालन नहीं किया।

PAK की परमाणु धमकी से नहीं डरने वाले, भारत के पास बमों का बम है: PM

जिला कलेक्टर और पुलिस महानिदेशक की रिपोर्ट के आधार पर आयोग ने सम्बलपुर के जनरल पर्यवेक्षक को घटना के एक दिन बाद निलंबित कर दिया गया। घटना मंगलवार (16 अप्रैल) को हुई। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सम्बलपुर में प्रधानमंत्री के हेलीकॉप्टर की जांच करना निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों के तहत नहीं था। एसपीजी सुरक्षा प्राप्त लोगों को ऐसी जांच से छूट प्राप्त होती है।

सचल दस्ते ने नवीन पटनायक के हेलीकॉप्टर की जांच पड़ताल की
वहीं दूसरी ओर चुनाव आयोग के सचल दस्ते ने मंगलवार (16 अप्रैल) को राउरकेला में बीजू जनता दल अध्यक्ष और ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के हेलीकॉप्टर के अंदर जाकर जांच पड़ताल की। उन्होंने कहा कि पटनायक ने दस्ते को पूर्ण सहयोग दिया और जब तक प्रक्रिया पूर्ण नहीं हो गई तब तक वे हेलीकॉप्टर के अंदर ही बैठे रहे। मुख्यमंत्री ने राउरकेला में एक रोडशो आयोजित किया था।

कांग्रेस की एकमात्र मंशा लोगों को बांटना, गुजरात के आणंद में बोले PM मोदी

पटनायक के सुरक्षा दस्ते में शामिल एक व्यक्ति ने बताया, ''जैसे ही पटनायक वहां उतरे, भारत निर्वाचन आयोग के सचल दस्ते के अधिकारी उनके पास पहुंचे और मुख्यमंत्री से निवेदन किया कि वे उन्हें उनका हेलीकॉप्टर व सामान जांचने की अनुमति दें। ओडिशा के चुनाव अधिकारियों ने बताया कि सचल दस्ते को निरीक्षण करने का अधिकार प्राप्त है और इसका किसी व्यक्ति से कुछ लेना देना नहीं है। केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान के हेलीकॉप्टर की भी सचल दस्ते ने मंगलवार को जांच पड़ताल की थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:PM Narendra Modi Chopper Sambalpur EC observer suspended for violating instructions on SPG protectees