ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशचुनावी रैली में पीएम मोदी ने इस महिला के छुए पैर, कौन हैं यह 80 साल की बुजुर्ग

चुनावी रैली में पीएम मोदी ने इस महिला के छुए पैर, कौन हैं यह 80 साल की बुजुर्ग

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से कवयित्री पूर्णमासी का पैर छुए जाने का वीडियो क्लिप सामने आया है जो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इसे लेकर पीएम मोदी की जमकर प्रशंसा हो रही है।

चुनावी रैली में पीएम मोदी ने इस महिला के छुए पैर, कौन हैं यह 80 साल की बुजुर्ग
Niteesh Kumarलाइव हिन्दुस्तान,भुवनेश्वरSat, 11 May 2024 07:04 PM
ऐप पर पढ़ें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को ओडिशा के कंधमाल में चुनावी रैली को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने पद्म श्री पुरस्कार विजेता आदिवासी कवि पूर्णमासी जानी के पैर छुए और उनका आशीर्वाद लिया। पूर्णमासी 80 वर्षीय कवि और सामाजिक कार्यकर्ता हैं। उन्होंने कुई, ओडिया और संस्कृत में 50 हजार से अधिक भक्ति गीतों की रचना की है। इसे देखते हुए उन्हें 2021 में पद्म श्री सम्मान से सम्मानित किया गया था। मालूम हो कि पद्म पुरस्कार साल 1954 से दिए जा रहे हैं। ये भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मानों में से एक हैं। हर साल गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर पद्म पुरस्कारों की घोषणा होती है।

पीएम मोदी की ओर से कवयित्री का पैर छुए जाने का वीडियो क्लिप सामने आया है जो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इसे लेकर पीएम मोदी की जमकर प्रशंसा हो रही है। बता दें कि पूर्णमासी जानी को ताड़िसरू बाई के नाम से भी जाना जाता है। प्रधानमंत्री ने इस दौरान नारीशक्ति को भी श्रद्धांजलि अर्पित की। साथ ही उन्होंने तुला बहरा जी के प्रति आभार व्यक्त किया, जिन्होंने उन्हें सम्मानित किया। नरेंद्र मोदी ने आज कंधमाल में अपने संबोधन के दौरान विपक्ष पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने मुख्यमंत्री नवीन पटनायक पर भी जमकर हमला बोला।

भाजपा लोकसभा चुनाव में बनाएगी रिकॉर्ड: पीएम मोदी  
नरेंद्र मोदी ने शनिवार को दावा किया कि भाजपा लोकसभा चुनाव में रिकॉर्ड बनाएगी और एनडीए 400 का आंकड़ा पार करेगा। मोदी ने ओडिशा में अपने अभियान के दूसरे चरण में यहां चुनावी रैली में कांग्रेस पर जमकर हमला किया। उन्होंने राहुल गांधी का जिक्र करते हुए कहा, 'शहजादे 2024 के चुनाव में वही भाषण दे रहे हैं जो उन्होंने 2014 और 2019 के चुनावों में दिया था। इस चुनाव में कांग्रेस लोकसभा में कुल सीटों का 10 प्रतिशत भी हासिल नहीं कर पायेगी और 50 से भी कम सीटें प्राप्त करेगी, जिससे वह लोकसभा में विपक्ष के दर्जे से वंचित हो जाएगी।'