ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देश'मेरा पहला वोट देश के नाम, अब 3 महीने बाद मन की बात'; क्या बोले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

'मेरा पहला वोट देश के नाम, अब 3 महीने बाद मन की बात'; क्या बोले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

पीएम मोदी ने रविवार को कहा, 'लोकसभा चुनाव के इन दिनों में अब अगले 3 महीने 'मन की बात' का प्रसारण नहीं होगा। अब जब आपसे 'मन की बात' में संवाद होगा तो वो 'मन की बात' का 111वां एपिसोड होगा।'

'मेरा पहला वोट देश के नाम, अब 3 महीने बाद मन की बात'; क्या बोले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
Niteesh Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 25 Feb 2024 12:04 PM
ऐप पर पढ़ें

प्रधामंत्री नरेंद्र मोदी ने रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' के 110वें एपसोड के जरिए देश को संबोधित किया। पीएम मोदी ने  इस दौरान ड्रोन दीदी, सोशल मीडिया और विकास कार्यों समेत कई मुद्दों पर चर्चा की। साथ ही उन्होंने फर्स्ट टाइम वोटर्स ने देश के लिए मतदान करने की अपील की। पीएम मोदी ने कहा कि कुछ दिनों बाद 8 मार्च को हम महिला दिवस मनाएंगे। यह विशेष दिन देश की विकास यात्रा में नारी शक्ति के योगदान को सलाम करने का अवसर है। महान कवि भरतियार जी ने कहा है कि दुनिया तभी समृद्ध होगी जब महिलाओं को समान अवसर मिलेंगे। उन्होंने कहा, 'कुछ वर्ष पहले तक किसने सोचा था कि हमारे देश में, गांव में रहने वाली महिलाएं भी ड्रोन उड़ाएंगी, लेकिन आज ये संभव हो रहा है। आज तो गांव-गांव में ड्रोन दीदी की इतनी चर्चा हो रही है, हर किसी की जुबान पर नमो ड्रोन दीदी, नमो ड्रोन दीदी ये चल पड़ा है। हर कोई इनके विषय में चर्चा कर रहा है। एक बहुत बड़ी जिज्ञासा पैदा हुई है।'

पीएम मोदी ने कहा कि आज देश में कोई भी क्षेत्र ऐसा नहीं है, जिसमें देश की नारी-शक्ति पीछे रह गई हो। एक और क्षेत्र जहां महिलाओं ने अपनी नेतृत्व क्षमता का बेहतरीन प्रदर्शन किया है, वो है प्राकृतिक खेती, जल संरक्षण और स्वच्छता। उन्होंने कहा, 'केमिकल से हमारी धरती मां को जो कष्ट हो रहा है, जो पीड़ा हो रही है, जो दर्द हो रहा है हमारी धरती मां को बचाने में देश की मातृशक्ति बड़ी भूमिका निभा रही है। देश के कोने-कोने में महिलाएं अब प्राकृतिक खेती को विस्तार दे रही हैं।' उन्होंने कहा कि देश के कोने-कोने में महिलाएं अब प्राकृतिक खेती को विस्तार दे रही हैं। आज अगर देश में 'जल जीवन मिशन' के तहत इतना काम हो रहा है तो इसके पीछे पानी समितियों की बहुत बड़ी भूमिका है। इस पानी समिति का नेतृत्व महिलाओं के ही पास है। इसके अलावा भी बहनें-बेटियां, जल संरक्षण के लिए चौतरफा प्रयास कर रही हैं।

'हम सबके जीवन में तकनीक का महत्त्व बढ़ा'
प्रधामंत्री ने कहा, 'आज हम सबके जीवन में तकनीक का महत्त्व बहुत बढ़ गया है। मोबाइल फोन, डिजिटल गैजेट्स हम सबकी जिंदगी का अहम हिस्सा बन गए हैं। लेकिन क्या आप कल्पना कर सकते हैं कि डिजिटल गैजेट्स की मदद से अब वन्य जीवों के साथ तालमेल बिठाने में भी मदद मिल रही है। कुछ दिन बाद 3 मार्च को 'विश्व वन्य जीव दिवस' है। इस दिन को वन्य जीवों के संरक्षण के प्रति जागरुकता फैलाने के उद्देश्य से मनाया जाता है। इस वर्ष विश्व वन्य जीव दिवस की थीम में डिजिटल नवाचार को सर्वोपरि रखा गया है।'

चंद्रपुर के टाइगर रिजर्व में बाघों की संख्या 250 से ज्यादा
नरेंद्र मोदी ने कहा, 'आपको ये जानकर खुशी होगी कि हमारे देश के अलग-अलग हिस्सों में वन्य जीवों के संरक्षण के लिए टेक्नोलॉजी का खूब उपयोग हो रहा है। पिछले कुछ वर्षों में सरकार के प्रयासों से देश में बाघों की संख्या बढ़ी है। महाराष्ट्र के चंद्रपुर के टाइगर रिजर्व में बाघों की संख्या ढ़ाई-सौ से ज्यादा हो गयी है। चंद्रपुर जिले में इंसान और बाघों के संघर्ष को कम करने के लिए AI की मदद ली जा रही है।'

अब अगले 3 महीने 'मन की बात' का नहीं होगा प्रसारण
मोदी ने कहा, 'देश में लोकसभा चुनाव का माहौल है और जैसा कि पिछली बार हुआ था, संभावना है कि मार्च के महीने में आचार-संहिता भी लग जाएगी। ये मन की बात की बहुत बड़ी सफलता है कि बीते 110 एपिसोड में हमने इसे सरकार की परछाई से भी दूर रखा है। 'मन की बात' में देश की सामूहिक शक्ति की बात होती है, देश की उपलब्धि की बात होती है। ये एक तरह से जनता का, जनता के लिए, जनता द्वारा तैयार होने वाला कार्यक्रम है। लेकिन फिर भी राजनीतिक मर्यादा का पालन करते हुए लोकसभा चुनाव के इन दिनों में अब अगले 3 महीने 'मन की बात' का प्रसारण नहीं होगा। अब जब आपसे 'मन की बात' में संवाद होगा तो वो 'मन की बात' का 111वां एपिसोड होगा। अगली बार 'मन की बात' की शुरुआत 111 के शुभ अंक से हो तो इससे अच्छा क्या होगा।'

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें