DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   देश  ›  गलतियों के लिए प्रायश्चित करें पीएम... कोरोना संकट पर कांग्रेस वर्किंग कमेटी ने पारित किया प्रस्ताव

देशगलतियों के लिए प्रायश्चित करें पीएम... कोरोना संकट पर कांग्रेस वर्किंग कमेटी ने पारित किया प्रस्ताव

हिन्दुस्तान टाइम्स,नई दिल्लीPublished By: Madan Tiwari
Mon, 10 May 2021 05:46 PM
गलतियों के लिए प्रायश्चित करें पीएम... कोरोना संकट पर कांग्रेस वर्किंग कमेटी ने पारित किया प्रस्ताव

कांग्रेस वर्किंग कमेटी (CWC) की सोमवार को हुई बैठक में कोरोना वायरस की दूसरी लहर पर चर्चा की गई। यह बैठक हाल में संपन्न हुए पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के प्रदर्शन को लेकर बुलाई गई थी। बैठक के बाद पारित प्रस्ताव में, CWC ने कोविड -19 महामारी की दूसरी लहर को मोदी सरकार की उदासीनता, असंवेदनशीलता और अक्षमता का प्रत्यक्ष परिणाम बताया। सीडब्ल्यूसी ने प्रस्ताव में कहा, ''यह वैज्ञानिक सलाह की केंद्र सरकार की इच्छाशक्ति की अवहेलना, महामारी पर जीत की इसकी समयपूर्व घोषणा (जो कि सिर्फ पहली लहर थी) और चेतावनी के बावजूद पहले योजना बनाने में असमर्थता का प्रत्यक्ष परिणाम है। चेतावनी सिर्फ हेल्थ एक्सपर्ट्स ने ही नहीं, बल्कि संसद की स्थायी कमेटी ने दी थी।'' प्रस्ताव में कहा गया है कि पीएम को अपनी गलतियों के लिए प्रायश्चित करना चाहिए। 

'कोरोना से होने वाली मौतों का आंकड़ा गलत'
कोरोना पर पारित प्रस्ताव में देश में वैक्सीन सप्लाई को लेकर भी केंद्र सरकार पर हमला बोला गया। प्रस्ताव में कहा गया है कि मोदी सरकार कठिन तथ्यों से इनकार करती रही। यह भी कहा गया कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पिछले महीने पीएम मोदी को एक पत्र में टीके की सप्लाई और ज्यादा लोगों को टीका लगाने के तरीके सुझाए थे, लेकिन केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन द्वारा अशोभनीय तरीके से जवाब दिया गया था। प्रस्ताव में कहा गया, ''सीडब्ल्यूसी इस बात पर चिंता व्यक्त करती है कि कोरोना से होने वाली मौतों का डेटा गलत है और कई मौतों को शामिल नहीं किया गया।  यह समय चुनौती का सामना करने का है, नाकि मरने वालों की संख्या को कम करने और संक्रमण के आंकड़ों को गलत दिखाने का है।'' प्रस्ताव में आगे कहा गया है कि कांग्रेस वर्किंग कमेटी का मानना है कि यह राष्ट्रीय एकता, उद्देश्य और संकल्प की एक अटूट भावना दिखाने का समय है। प्रधानमंत्री को अपनी गलतियों के लिए प्रायश्चित करना चाहिए और लोगों की सेवा करने के लिए प्रतिबद्ध होना चाहिए। 

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को लेकर भी कांग्रेस का हमला
कांग्रेस वर्किंग कमेटी ने दिल्ली के सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को लेकर भी केंद्र सरकार पर हमला बोला। सीडब्ल्यूसी ने इसे प्रधानमंत्री की व्यक्तिगत घमंड परियोजना बताते हुए कहा कि आपराधिक रूप से पैसे की बर्बादी की जा रही है। सीडब्ल्यूसी ने कहा कि यह देश के लोगों का अपमान है और असंवेदनशीलता की पराकाष्ठा है। इससे पहले, सीडब्ल्यूसी को संबोधित करते हुए, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आरोप लगाया कि केंद्र ने अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन नहीं किया और राज्यों पर कोरोना टीकाकरण छोड़ दिया। उन्होंने कहा, ''मोदी सरकार ने अपनी जिम्मेदारी छोड़ दी है और राज्यों पर टीकाकरण छोड़ दिया है। केंद्र के लिए सभी को मुफ्त वैक्सीन प्रदान करने के लिए आर्थिक रूप से अधिक न्यायसंगत होगा।''

देश में फिर से तीन लाख से ज्यादा नए मामले
लगातार चार दिन कोरोना वायरस संक्रमण के चार लाख से अधिक नए मामले सामने आने के बाद भारत में सोमवार को एक दिन में कोविड-19 के 3,66,161 मामले सामने आए और इसी के साथ देश में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 2,26,62,575 हो गए। स्वास्थ्य मंत्रालय के सोमवार को सुबह आठ बजे जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, 3,754 और लोगों की संक्रमण के कारण मौत होने के बाद कुल मृतक संख्या बढ़कर 2,46,116 हो गई। देश में उपचाराधीन मामलों की संख्या बढ़कर 37,45,237 हो गई, जो संक्रमण के कुल मामलों का 16.53 प्रतिशत है, जबकि संक्रमित लोगों के स्वस्थ होने की दर 82.39 प्रतिशत है। आंकड़ों के अनुसार, अब तक 1,86,71,222 लोग संक्रमित होने के बाद ठीक हो चुके हैं, जबकि मृत्युदर 1.09 प्रतिशत है।

संबंधित खबरें