PM Modi to meet heads of 75 countries on US visit - अमेरिका दौरे पर 75 देशों के राष्ट्राध्यक्षों से मिलेंगे पीएम मोदी DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अमेरिका दौरे पर 75 देशों के राष्ट्राध्यक्षों से मिलेंगे पीएम मोदी

prime minister narendra modi  afp photo

‘संयुक्त राष्ट्र (यूएन) महासभा के 74वें सत्र में भारत की भागीदारी और पहुंच अभूतपूर्व रहेगी। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी के ठोस और वास्तविक परिणाम नजर आएंगे।’ यूएन में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने गुरुवार रात एक संवाददाता सम्मेलन में यह बात कही।

पीएम मोदी का सात दिवसीय अमेरिकी दौरा शनिवार से शुरू हो रहा है। इस दौरान वह ह्यूस्टन में ‘हाउडी मोदी कार्यक्रम’ के जरिये भारतीय-अमेरिकी समुदाय के लोगों की सबसे बड़ी भीड़ से रूबरू होने के साथ ही यूएन महासभा को संबोधित करेंगे। उनका जलवायु परिवर्तन सम्मेलन सहित नौ उच्च स्तरीय शिखर सम्मेलनों में हिस्सा लेने के साथ ही विभिन्न मंचों पर दुनिया के 75 देशों के राष्ट्राध्यक्षों से द्विपक्षीय या बहुपक्षीय मुलाकातों का भी कार्यक्रम है।
 

अकबरुद्दीन ने बताया कि मोदी, विदेश मंत्री एस जयशंकर और विदेश राज्यमंत्री वी मुरलीधरन से हफ्ते भर में 75 राष्ट्र प्रमुख एवं विदेश मंत्रियों से मिलेंगे। इन मुलाकातों में प्रधानमंत्री और उनके समकक्ष या विदेश मंत्री व उनके समकक्ष एक ही कमरे में कम से कम 30 मिनट तक अहम मसलों पर चर्चा करेंगे। उन्होंने कहा, ‘बड़ी संख्या में देशों के समूह ने भारत के साथ वार्ता करने की इच्छा जताई है। इसलिए मैं बोल रहा हूं कि यह अभूतपूर्व होगा। हमने यूएन सत्र में पहले कभी इतने देशों के साथ इस प्रकार वार्ता नहीं की।’ 
 

बकौल अकबरुद्दीन, ‘यूएन में हमने मंत्री स्तर पर जी4 या ब्रिक्स देशों की बहुपक्षीय बैठकें की हैं, लेकिन पहले कभी ऐसा नहीं हुआ कि इतनी संख्या देशों का समूह मिलकर भारत के साथ काम करने को आगे आया हो। सभी वार्ताएं बड़े निर्णय लेने पर आधारित होंगी। मोदी तमाम देशों को अपनी इस सोच से अवगत कराएंगे कि वह बहुपक्षीय परिदृश्य में भारत को कहां देखते हैं।’ 

यूएन को ‘टॉक शॉप’ कहना गलत
-अकबरुद्दीन ने कहा, यूएन को मजाक में ‘टॉक शॉप’ कहा जाता है, जो सिर्फ अपने मतलब की चीजों पर चर्चा का मंच देता है। हालांकि, बातचीत करना अहम है। इससे भी जरूरी है, बातचीत को आगे ले जाना...। मौजूदा सत्र में आप खासतौर पर प्रधानमंत्री मोदी की मौजूदगी के ठोस, वास्तविक एवं कार्येान्मुखी परिणाम देखेंगे। 

ये भी पढ़ें: वित्त मंत्री ने कॉरपोरेट टैक्स घटाकर किया 22%, बायबैक टैक्स पर दी राहत

आतंक पर अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन की वकालत
-अमेरिका दौरे पर मोदी ‘स्ट्रैटेजिक रिस्पॉन्सेज टू टेरेरिस्ट एंड वायलेंट एक्ट्रीमिस्ट नरेटिव्स’ विषय पर आधारित सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। इस दौरान वह आतंकवाद के मुद्दे पर पड़ेसी देश को घेरने के साथ ही इससे निपटने को वैश्विक सहयोग बढ़ाने और आतंकवाद पर अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित करने की वकालत करेंगे।

कश्मीर मुद्दा उठाकर पाक और नीचे गिरेगा
-अकबरुद्दीन ने कहा, पाकिस्तान अगर यूएन सत्र में कश्मीर मुद्दा उठाता है तो वह अपना स्तर और नीचे गिराएगा, जबकि भारत का स्तर ऊपर उठेगा। यूएन में पाक कश्मीर पर जहर उगलता आया है। मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि यह ज्यादा समय तक नहीं चलने वाला। पाक पीएम ने 27 सितंबर को यूएन में कश्मीर उठाने की बात कही है।

यूएन मुख्यालय में सौर पार्क का उद्घाटन करेंगे मोदी
-भारत की ओर से अपनी तरह की पहली सांकेतिक पहल के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले सप्ताह यूएन मुख्यालय में 50 किलोवाट क्षमता के ‘गांधी सौर पार्क’ का उद्घाटन करेंगे। यह कदम जलवायु परिवर्तन वार्ता से भी आगे जाने की भारत की इच्छाशक्ति को रेखांकित करेगा। भारत ने यूएन मुख्यालय की छत पर स्थापित सौर पैनलों को उपहार में दिया है। विश्व निकाय के सभी 193 सदस्यों के लिए एक-एक पैनल लगाया गया है। पूरी परियोजना पर दस लाख डॉलर (लगभग सात करोड़ रुपये) खर्च हुए हैं। महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के उपलक्ष्य में मोदी 24 सितंबर को यूएन मुख्यालय में बने सौर पार्क के साथ ही ‘गांधी शांति उद्यान’ का भी उद्घाटन करेंगे। इस अवसर पर यूएन एक विशेष डाक टिकट जारी करेगा।

23 को ट्रंप से मिलेंगे इमरान
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की 23 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) से इतर न्यूयॉर्क में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से द्विपक्षीय मुलाकात हो सकती है। ‘डॉन’ ने कूटनीतिक सूत्रों के हवाले से शुक्रवार को प्रकाशित खबर में यह दावा किया। अखबार के मुताबिक ट्रंप और मोदी ह्यूस्टन में 'हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में 50 हजार से अधिक भारतीय-अमेरिकियों को संबोधित करेंगे। उसी दिन इमरान अमेरिका पहुंचेंगे। अगले दिन उनकी ट्रंप से मुलाकात होगी। इस दौरान वह कश्मीर मुद्दे पर तीसरे पक्ष के दखल के मुद्दे पर बातचीत की कोशिश करेंगे।

ये भी पढ़ें: क्या मोदी सरकार ने किया 1991 के बाद का सबसे बड़ा आर्थिक सुधार?

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:PM Modi to meet heads of 75 countries on US visit