DA Image
हिंदी न्यूज़ › देश › नई टीम के बाद पीएम मोदी का 'गवर्नमेंट फॉर ग्रोथ' का नारा, मंत्रियों को यूं दी शुभकामनाएं
देश

नई टीम के बाद पीएम मोदी का 'गवर्नमेंट फॉर ग्रोथ' का नारा, मंत्रियों को यूं दी शुभकामनाएं

लाइव हिन्दुस्तान ,नई दिल्लीPublished By: Sudhir Jha
Wed, 07 Jul 2021 09:14 PM
नई टीम के बाद पीएम मोदी का 'गवर्नमेंट फॉर ग्रोथ' का नारा, मंत्रियों को यूं दी शुभकामनाएं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कैबिनेट में बड़े फेरबदल और विस्तार के बाद अपनी सरकार को विकास के लिए समर्पित बताया है। पीएम मोदी ने #Govt4Growth हैशटैग से गिए गए ट्वीट में बुधवार को मंत्री पद की शपथ लेने वाले नेताओं को शुभकामनाएं दी तो यह भी कहा कि उनकी सरकार लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए काम करती रहेगी।

पीएम मोदी ने ट्वीट किया, ''मैं आज शपथ लेने वाले सभी साथियों को बधाई देता हूं और उनके मंत्री पद के कार्यकाल के लिए शुभकामनाएं देता हूं। हम लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए काम करते रहेंगे और एक मजबूत और समृद्ध भारत बनाएंगे।''

गृहमंत्री अमित शाह ने भी मंत्रियों को बधाई देते हुए #Govt4Growth का इस्तेमाल किया। उन्होंने कहा, ''मंत्रिपद की शपथ लेने वाले सभी साथियों को बधाई। मुझे विश्वास है कि पीएम नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में पूरा मंत्रिमंडल पूर्ण निष्ठा और समपर्ण से सरकार की कल्याणकारी नीतियों को जन-जन तक पहुंचाने और आत्मनिर्भर भारत के संकल्प को साकार करने में अपना सर्वश्रेष्ठ योगदान देगा।''

यह भी पढ़ें: मोदी की टीम में अब 77 मंत्री, देखें- किसका प्रमोशन और किसे नई एंट्री

केंद्रीय मंत्रिपरिषद में बुधवार को फेरबदल और विस्तार किया गया। इसमें हर्षवर्धन, रमेश पोखरियाल निशंक, रविशंकर प्रसाद, प्रकाश जावड़ेकर, डी वी सदानंद गौड़ा, संतोष गंगवार जैसे नेताओं की केंद्रीय मंत्रिमंडल से छुट्टी कर दी गई, जबकि मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार बनाने में मदद करने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया और शिव सेना से भाजपा में आए नारायण राणे को कैबिनेट मंत्री पद से नवाजा गया। मंत्रिपरिषद के इस विस्तार और फेरबदल में 36 नए चेहरों को शामिल किया गया है, जबकि सात वर्तमान राज्यमंत्रियों को पदोन्नत कर मंत्रिमंडल में शामिल किया गया।

सिंधिया और राणे सहित आठ नए चेहरों को भी कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति भवन के दरबार हॉल में आयोजित एक समारोह में मंत्रिपरिषद में शामिल किए गए सभी 43 सदस्यों को पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई। प्रधानमंत्री के रूप में मई 2019 में 57 मंत्रियों के साथ अपना दूसरा कार्यकाल आरंभ करने के बाद मोदी ने पहली बार केंद्रीय मंत्रिपरिषद में फेरबदल व विस्तार किया है।

कैबिनेट मंत्री के रूप में महाराष्ट्र से राज्यसभा के सदस्य नारायण राणे, असम के पूर्व मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल, पूर्व केंद्रीय मंत्री व मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ से सांसद वीरेंद्र कुमार, मध्य प्रदेश से राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया, जनता दल यूनाईटेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष व राज्यसभा सदस्य राम चंद्र प्रसाद सिंह, ओड़िशा से भाजपा के राज्यसभा सदस्य अश्विनी वैष्णव और लोक जनशक्ति पार्टी के पारस गुट के अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस ने शपथ ली। इनके अलावा किरेन रिजिजू, राजकुमार सिंह, हरदीप सिंह पुरी और मनसुख भाई मांडविया ने भी कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ग्रहण की। इन चारों नेताओं को राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) से पदोन्नत कर कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया है।

रिजिजू इससे पहले युवक कार्यक्रम और खेल मंत्रालय में राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) थे और सिंह पहले विद्युत मंत्रालय में राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) थे जबकि पुरी आवासन तथा शहरी विकास और नागर विमानन मंत्रालय में राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) थे। मांडविया बंदरगाह, पोत और जलमार्ग परिवहन मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) थे। भाजपा महासचिव व राजस्थान से राज्यसभा के सदस्य भूपेंद्र यादव ने भी कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली।

संबंधित खबरें