DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीएम मोदी के पुराने प्रस्तावक छन्नूलाल बोले, खूब मिला सम्मान

modi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2014 में जब चुनाव लड़े थे तो  उनके नामांकन में प्रस्तावक बनारस घराने के गायक पंडित छन्नूलाल मिश्र, रिटायर जज गिरिधर मालवीय, गंगा सेवक वीरभद्र निषाद और बुनकर अशोक कुमार बने थे। वीरभद्र निषाद और बुनकर अशोक कुमार प्रधानमंत्री के आगमन को लेकर काफी उत्साहित थे। दोनों पुराने प्रस्तावकों का कहना था इन पांच सालों में प्रधानमंत्री से काफी सम्मान मिला। यह किसी भी उपहार से कम नहीं है। 

पिछले चुनाव में अशोक व वीरभद्र के साथ ही बनारस घराने के गायक पंडित छन्नूलाल मिश्र व रिटायर जज गिरिधर मालवीय भी थे। पद्मभूषण शास्त्रीय गायक छन्नूलाल मिश्र (83) स्वच्छ भारत मिशन के लिए प्रधानमंत्री की ओर से नियुक्त नवरत्नों में से भी एक रहे हैं। उन्हें 2010 में पद्मभूषण से नवाजा गया था। छन्नूलाल मिश्र वर्तमान में मैहर यात्रा पर हैं। जस्टिस मालवीय इलाहाबाद में निवास करते हैं। वह बीएचयू के चांसलर भी हैं। 

पीएम के प्रस्तावक शिवाला निवासी 86 साल के वीरभद्र निषाद बुधवार की दोपहर परिवार के साथ घर में थे। बेटे वीरेंद्र के बुलाने पर घर से बाहर निकले। बताया कि पिछले आम चुनाव में नरेंद्र मोदी का प्रस्तावक बनकर बड़ी प्रसन्नता हुई थी। पांच साल में जो मान-सम्मान मिला उसे भुला नहीं सकता। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से छह बार मुलाकात हुई है। पहली बार पीएम बनने के बाद नरेंद्र मोदी ने दिल्ली बुलाकर स्वागत किया। प्रस्तावक बनने के पीछे सिर्फ बनारस में परिवर्तन और विकास की थी अपेक्षा थी। खुद के लिए कोई चाहत नहीं थी। पिछले पांच वर्षों में कोई सरकारी सुविधा या अन्य कोई व्यवस्था सरकार द्वारा नहीं मिली। बस, एक कसक रह गई कि पोते को इंजीनियरिंग में दाखिला नहीं मिला। जबकि क्षेत्रीय और केंद्रीय नेताओं से मुलाकात भी की थी। चौथे नंबर के बेटे वीरेंद्र निषाद वाहन चलाते हैं। कहा कि हम सभी भाई अपने काम से खुश हैं और अच्छे से गुजारा कर रहें हैं। पिताजी के कहे मुताबिक उनका सम्मान ही हमारे लिए सब कुछ है। 

चंदूपुरा (ओंकालेश्वर) निवासी बुनकर अशोक कुमार भी प्रस्तावक थे। उनके घर पर बेटा किशन मिला। अशोक गद्दी (साड़ी की दुकान) पर गए थे। सामान्य परिवार के ताल्लुक रखने वाले अशोक कुमार ने कहा कि नरेंद्र मोदी के कार्य से पूरा देश खुश है। उन्होंने सबका विकास किया। किसी धर्म, जाति एवं क्षेत्र विशेष के प्रति कोई भेद नहीं किया। उन्होंने देश का दुनिया में मान बढ़ाया है। पांच सालों में तीन बार मिल चुके हैं। पहली बार उनके शपथ ग्रहण समारोह में बुलाया गया था। इसके बाद उनके बनारस आने के बाद उनसे दो बार मिले थे। उन्होंने बताया कि मोदी जी ने बुनकरों के लिए भी कई काम किए। इसकी वजह से उनके कारोबार में पहले से काफी सुधार हुआ। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:PM Modi old proponent Chunnulal said