ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशतेलंगाना में मुस्लिमों को पीएम मोदी का भरोसा, हेल्थ और एजुकेशन पर और काम करेगी सरकार

तेलंगाना में मुस्लिमों को पीएम मोदी का भरोसा, हेल्थ और एजुकेशन पर और काम करेगी सरकार

पीएम ने मुस्लिम नेताओं से कहा कि उनकी सरकार सच्चर कमेटी की सिफारिशों के आधार पर शिक्षा और स्वास्थ्य क्षेत्रों में मुसलमानों के लिए और अधिक कल्याणकारी योजनाएं शुरू करेगी।

तेलंगाना में मुस्लिमों को पीएम मोदी का भरोसा, हेल्थ और एजुकेशन पर और काम करेगी सरकार
Madan Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,हैदराबादWed, 29 Nov 2023 04:34 PM
ऐप पर पढ़ें

तेलंगाना विधानसभा चुनाव के लिए 30 नवंबर (गुरुवार) को वोटिंग होनी है। बीआरएस, कांग्रेस और बीजेपी, एआईएमआईएम के बीच मुख्य तौर पर मुकाबला है। सभी दलों के प्रमुख नेताओं ने चुनावी रैलियों में पूरी ताकत लगा दी। बीजेपी की ओर से खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तेलंगाना पहुंचे और रैलियों में जमकर बीआरएस, कांग्रेस आदि पर हमला बोला। सोमवार को पीएम मोदी ने हैदराबाद में रोडशो भी किया। इसके बाद उन्होंने करीमनगर में मुस्लिम अल्पसंख्यक नेताओं से मुलाकात की, जिसके कई मायने निकाले जा रहे हैं। इस मुलाकात के जरिए पीएम मोदी का मुख्य फोकस पसमांदा मुसलमानों पर था, जो समुदाय में सबसे पिछड़े और सामाजिक रूप से उत्पीड़ित हैं।

'हेल्थ और एजुकेशन सेक्टर में और काम करेगी सरकार'
'टाइम्स ऑफ इंडिया' के अनुसार, मुस्लिम अल्पसंख्यक मोर्चा के नेता असफर भाषा ने बताया कि उन्होंने (पीएम) हमसे कहा कि मुसलमान हर क्षेत्र में बहुत टैलेंटेड हैं और भाजपा सरकार हमारे उत्थान के लिए सब कुछ करेगी और हमें बढ़ने में भी मदद करेगी।'' यह छोटी सी मीटिंग करीमनगर में जनसभा स्थल के करीब हेलीपैड पर आयोजित की गई थी। पीएम ने मुस्लिम नेताओं से कहा कि उनकी सरकार सच्चर कमेटी की सिफारिशों के आधार पर शिक्षा और स्वास्थ्य क्षेत्रों में मुसलमानों के लिए और अधिक कल्याणकारी योजनाएं शुरू करेगी। पीएम मोदी ने अल्पसंख्यक मोर्चा के नेताओं से बैठक में कहा, ''आपको समुदाय को उन छात्रवृत्तियों के बारे में बताना चाहिए जो हम अल्पसंख्यक छात्रों को प्रदान कर रहे हैं। तेलंगाना में मुस्लिम समुदाय के साथ आउटरीच कार्यक्रम अच्छे चल रहे हैं। पसमांदा मुसलमानों को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जानी चाहिए।''

'भेदभाव वाली धारणा को दूर करें'
समुदाय तक पहुंचने के अपने नए प्रयास में, पीएम मोदी ने नेताओं से इस धारणा को दूर करने के लिए भी कहा कि उनकी सरकार कल्याणकारी योजनाओं का लाभ देने में मुसलमानों के साथ भेदभाव करती है। हैदराबाद में भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारी समिति की बैठक के दौरान प्रधानमंत्री ने भाजपा नेताओं से पसमांदा मुसलमानों पर अपना ध्यान केंद्रित करने और उनके उत्थान के लिए प्रयास करने का आह्वान किया। मुस्लिम नेताओं ने भी कहा कि वे पीएम मोदी की आउटरीच में विश्वास करते हैं। करीमनगर के उम्मीदवार, हिंदुत्व कार्ड के 'पोस्टर बॉय' बंदी संजय ने भी अल्पसंख्यक समुदाय के नेताओं से मुलाकात की।

पिछले चुनाव में केसीआर को मिली थी बड़ी जीत
वहीं, दूसरी ओर तेलंगाना मुस्लिम संगठनों की ज्वाइंट एक्शन कमेटी ने आगामी राज्य विधान सभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी का समर्थन करने का फैसला किया है, जो सत्तारूढ़ बीआरएस सरकार के लिए एक झटका है। राज्य सरकार द्वारा मुस्लिम जेएसी की मांगों को संबोधित करने में विफल रहने का आरोप लगाया गया, जिसके बाद यह फैसला लिया गया। बयान में कहा गया कि मुस्लिम जेएसी सभी मुसलमानों से एकजुट होने और कांग्रेस पार्टी को वोट देने का आग्रह करती है। तेलंगाना में बीआरएस सत्ता में है और पिछले विधानसभा चुनाव में कुल 119 सीटों में से केसीआर की पार्टी को 88 सीटों पर जीत मिली थी, जबकि कांग्रेस को महज 19 सीटें ही मिल सकी थीं।इ सके अलावा, एआईएमआईएम को सात सीटों पर जीत मिली। बीजेपी को तब महज एक सीट पर ही जीत मिल सकी थी। हालांकि, इस बार बीजेपी ने तेलंगाना में काफी फोकस किया है और पार्टी के शीर्ष नेताओं ने जमकर चुनाव प्रचार किया है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें