ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशपीएम मोदी ने कहा- वो दिन गए जब सरकार 100 पैसा भेजती थी, तो 85 पैसा दलाल खा जाते थे

पीएम मोदी ने कहा- वो दिन गए जब सरकार 100 पैसा भेजती थी, तो 85 पैसा दलाल खा जाते थे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने रविवार को उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना (PM Kisan Yojna) की शुरुआत कर दी है। इसके तहत देश के एक करोड़ से...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
1/ 2प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
पीएम मोदी
2/ 2पीएम मोदी
Madanलाइव हिन्दुस्तान टीम,गोरखपुरSun, 24 Feb 2019 02:06 PM
ऐप पर पढ़ें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने रविवार को उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना (PM Kisan Yojna) की शुरुआत कर दी है। इसके तहत देश के एक करोड़ से अधिक छोटे किसानों के बैंक खाते में दो हजार रुपये की पहली किस्त डाल दी गई। 

पढ़ें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गोरखपुर दौरे के लाइव अपडेट्स:

- पहले अटल जी की सरकार में आदिवासियों के लिए अलग मंत्रालय बना था। नॉर्थ ईस्ट के विकास के लिए अलग मंत्रालय बनाया था। अब फिर भाजपा सरकार ने मछली पालन से जुड़े लोगों के विकास के लिए अलग मंत्रालय बनाने का फैसला किया गया है।

- अब मेरे किसान भाई, किसान क्रेडिट कार्ड के जरिए 1 लाख 60 हजार रुपए तक का कर्ज, बिना बैंक गारंटी ले पाएंगे।

- जो बातें लोग पहले नामुमकिन समझते थे, उन्हें मुमकिन कर रही है। पिछले साढ़े चार वर्षों में सरकार द्वारा दो चरणों में 17 करोड़ से ज्यादा सॉयल हेल्थ कार्ड दिए जा चुके हैं। यूरिया की 100% नीम कोटिंग का फैसला लेकर हमने खाद का दुरुपयोग रोका है।

- हमारी सरकार ने MSP पर किसानों की बरसों पुरानी मांग को पूरा किया। रबी और खरीफ की 22 फसलों का समर्थन मूल्य लागत का 50% से अधिक तय किया गया है। मौसम की मार से किसानों को बचाने के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना भी बनाई गई है।

- हमारी सरकार प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना पर ही करीब-करीब एक लाख करोड़ रुपए खर्च कर रही है। इतनी बड़ी राशि हम लगा रहे हैं ताकि देश में जो सिंचाई परियोजनाएं 30-40 साल से लटकी हुई थीं, उन्हें पूरा किया जा सके।

- हम जो योजना लाये हैं, उसके अंतर्गत हर वर्ष 75 हजार करोड़ रुपये किसानों के खातों में जमा होगा। जबकि महामिलावटी लोगों ने अपने पिछले 10 साल के कार्यकाल में मात्र 53 हजार करोड़ रुपये का किसानों का ऋण माफ किया था।

- ये नया भारत है। इसमें केंद्र सरकार जितना पैसा किसान के लिए भेजती है, वो पूरा पैसा उसके खाते में पहुंचता है। अब वो दिन गए जब सरकार 100 पैसा भेजती थी, तो बीच में 85 पैसा दलाल और बिचौलिए खा जाते थे। इस योजना को भी फूल प्रूफ बनाया गया है, ताकि किसान का अधिकार कोई छीन न सके।

- प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जिन किसानों को आज पहली किश्त नहीं मिली है, उन्हें आने वाले हफ्तों में पहली किश्त की राशि मिल जाएगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारी सरकार पूरी ईमानदारी से कोशिश कर रही है कि किसानों को वो हर संसाधन दिए जाएं, जिससे वो साल 2022 तक अपनी आय को दोगुना कर सकें।

गोरखपुर में बोले पीएम मोदी, ये तो अभी शुरुआत है, इस योजना के तहत हर साल 75 हजार करोड़ रुपये किसानों के खाते में सीधा पहुंचने वाले हैं।

- पीएम मोदी ने कहा कि अब तक देश के 1 करोड़ 1 लाख किसानों के बैंक खातों में इस योजना की पहली किश्त ट्रांसफर करने का सौभाग्य मुझे मिला है। इन किसानों को 2 हजार 21 करोड़ रुपए अभी ट्रांसफर किए गए हैं।

- पीएम मोदी ने कहा कि करोड़ों पशुपालकों, दूध के व्यवसाय से जुड़े किसान परिवारों और मत्स्य पालन और उसके व्यवसाय से जुड़े बहन-भाइयों को भी किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा से जुड़ने के लिए बहुत-बहुत बधाई।

- पीएम मोदी ने कहा कि देश के इतिहास में आज का दिन दर्ज होगा।

- पीएम किसान योजना के लॉन्च होने के बाद एक करोड़ से ज्यादा किसानों के खाते में दो दो हजार रुपये की राशि पहुंचनी है।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गोरखपुर से पीएम किसान योजना की शुरुआत की। किसानों को दो दो हजार रुपये भेजे गए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में कई विकास परियोजनाओं का अनावरण किया।

- केंद्र सरकार ने वित्त वर्ष 2019-20 के अंतरिम बजट में पीएम-किसान योजना का ऐलान किया था। इसके तहत दो हेक्टेयर तक जोत रखने वाले 12 करोड़ छोटे एवं सीमांत किसानों को सालाना 6,000 रुपये की नकद सहायता देने की घोषणा की गई थी। प्रधानमंत्री मोदी ने शनिवार को ट्वीट कर कहा, 'कल एक ऐतिहासिक दिन है! प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की शुरुआत गोरखपुर से होगी। इस योजना से कड़ी मेहनत करने वाले करोड़ों भारतीय किसानों की आकांक्षाओं को पर लग जाएंगे, जो हमारे देश का पोषण करते हैं।'

पढ़ें: प्रधानमंत्री मोदी से कोई दुश्मनी नहीं है, इसलिए उन्हें गले लगाया था: राहुल गांधी

- उन्होंने कहा, पीएम किसान सम्मान निधि की शुरुआत दो चीजों को दिखाता हैः किसानों के कल्याण के प्रति राजग की अटूट प्रतिबद्धता एवं तेज निर्णय की प्रक्रिया--एक फरवरी को घोषित योजना इतने कम समय में हकीकत का रूप लेने जा रही है। यह नये भारत की नयी कार्य संस्कृति है।' यह योजना इसी वित्त वर्ष से ही लागू हो गयी है और यही वजह है कि किसानों को मार्च के आखिर तक दो हजार रुपये की पहली किस्त मिल जाएगी। यह योजना कृषि क्षेत्र की दिक्कतों को दूर करने की केंद्र की कोशिशों का हिस्सा है। 

- केंद्रीय कृषि मंत्रालय ने शनिवार को बयान जारी कर कहा, 'लघु एवं सीमांत किसानों को निश्चित आय सहायता के लिए सरकार प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) की शुरुआत कर रही है।'

- मंत्रालय ने बयान में इस बात का जिक्र नहीं किया है कि रविवार को कितने किसानों के खाते में 2,000 रुपये की पहली किस्त भेजी जाएगी। हालांकि, वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि उत्तर प्रदेश एवं कर्नाटक सहित 14 राज्यों के एक करोड़ से अधिक किसानों को रविवार को दो हजार रुपये भेजे जाएंगे। इसके अलावा 28 राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश के लोगों को यह लाभ अगले दो-तीन दिन में भेजा जाएगा।