DA Image
20 अप्रैल, 2021|9:01|IST

अगली स्टोरी

सेना को अर्जुन टैंक सौंप PM मोदी ने तमिलनाडु में लगाई योजनाओं की झड़ी

pm modi

1 / 2PM Modi

arjun tank

2 / 2arjun tank

PreviousNext

चीन और पाकिस्तान के साथ दोनों मोर्चों पर तनाव के बीच भारतीय सेना की ताकत बढ़ेगी। रविवार को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के मुख्य युद्धक टैंक अर्जुन मार्क 1 ए को राष्ट्र को समर्पित किया। तमिलनाडु और केरल के दौरे पर पीएम मोदी ने स्वदेशी अर्जुन मेन बैटल टैंक (एमके-1ए) चेन्नई में सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे को सौंपा। इसके बाद पीएम मोदी ने तमिलनाडु में एक के बाद एक कई विकास परियोजनाओं को हरी झंडी दिखाई। पीएम मोदी ने चेन्नई मेट्रो प्रोजेक्ट फेज-1 एक्सटेंशन का उद्घाटन भी किया।

पीएम मोदी ने तमिलनाडु में योजनाओं की शुरुआत के बाद कहा, 'आज चेन्नई से हम ई-इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट शुरू कर रहे हैं, ये प्रोजेक्ट इनोवेशन और स्वदेशी विकास के प्रतीक हैं। इनसे तमिलनाडु का और विकास होगा'। उन्होंने बताया कि चेन्नई मेट्रो का तेज़ी से विकास हो रहा है, इस साल के बजट में इस प्रोजेक्ट के दूसरे चरण के लिए 63,000 करोड़ से ज़्यादा रुपये आवंटित किए गए हैं।

इस दौरान पीएम मोदी ने पुलवामा के शहीदों को भी श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा, 'दो साल पहले पुलवामा हमला हुआ था। हम उस हमले में जान गंवाने वाले अपने सभी शहीदों को श्रद्धांजलि देते हैं, हमें अपने सुरक्षा बलों पर गर्व है। उनकी बहादुरी पीढ़ियों को प्रेरित करती रहेगी।'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आईआईटी मद्रास के डिस्कवरी कैंपस की आधारशिला रखी। यह कैंपस चेन्नई के पास थय्युर में बनाया जाएगा। पहले चरण में 2 लाख वर्ग मीटर से अधिक एरिया में बनने वाले इस कैंपस के निर्माण में 1000 करोड़ रुपये की लागत आएगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ग्रैंड एनीकट नहर प्रणाली के विस्तार, नवीनीकरण और आधुनिकीकरण की आधारशिला रखी। इस नहर का आधुनिकीकरण 2,640 करोड़ रुपये की लागत से होगा, जिससे नहरों में जल वहन करने की क्षमता बढ़ेगी।

अर्जुन टैंक पर पीएम मोदी ने कहा,  'मुझे स्वदेशी रूप से डिजाइन किए गए और बनाए गए अर्जुन मेन बैटल टैंक(एमके-1ए) को सौंपते हुए गर्व है। ये स्वदेशी गोलाबारूद का भी इस्तेमाल करता है। तमिलनाडु पहले ही भारत का ऑटोमोबाइल निर्माण का हब है,अब मैं तमिलनाडु को भारत के टैंक निर्माण के हब के रूप में विकसित होते देखता हूं।'

अर्जुन टैंक की खासियत क्या है?

8 हजार 400 करोड़ रुपये की कीमत वाले इस टैंक को पूरी तरह भारत में बनाया गया है। ये 118 टैंक सेना के पहले बैच में शामिल होंगे। अर्जुन श्रेणी के काफी टैंक पहले ही पश्चिम रेगिस्तान में पाकिस्तान बॉर्डर पर तैनात हैं। इन 118 अर्जुन टैंक से सेना में बख्तरबंद कोर में दो रेजिमेंट बनाई जाएगी। 

डीआरडीओ पिछले कुछ समय से अर्जुन मार्क 1 ए युद्धक टैंक का विकास कर रहा है। इस टैंक का डिजाइन डीआरडीओ के लड़ाकू वाहन अनुसंधान और विकास प्रतिष्ठान (सीवीआरडीई) ने तैयार किया है। करीब ढाई साल पहले अर्जुन टैंक ने नए संस्करणों की सप्लाई के लिए कांट्रेक्ट साइन किया गया था। इन्हीं में से 5 टैंक रविवार को पीएम के हाथों सेना के सुपुर्द किए जाने थे।

इतना ही नहीं, पीएम मोदी ने इस दौरे पर चेन्नई मेट्रो रेल परियोजना के पहले चरण का शुभारंभ किया। इस विस्तारित परियोजना को पूरा करने में 3,770 करोड़ रुपये की लागत आई है। यह उत्तरी चेन्नई को हवाईअड्डे तथा रेलवे स्टेशन से जोड़ेगी। इसके अलावा, प्रधानमंत्री ने चेन्नई समुद्र तट और अट्टीपट्टू के बीच चौथी रेल लाइन का भी उद्घाटन किया। बता दें कि तमिलनाडु और केरल में इस अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव होना है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:PM modi hands over indigenous Arjun tank to Army