DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जेट एयरवेज के यात्रियों को पैसे वापसी के लिए दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका

Jet Airways

दिल्ली उच्च न्यायालय में सोमवार को याचिका दायर कर नागर विमानन मंत्रालय एवं नागरिक उड्डयन महानिदेशालय को यह निर्देश देने की मांग की गयी है कि जिन यात्रियों ने जेट एयरवेज के टिकट खरीदे हैं उनके या तो पैसे वापस किये जायें अथवा उनकी यात्रा के लिए कोई विकल्प उपलब्ध करवाया जाए क्योंकि जेट एयरवेज ने अपने सभी घरेलू एवं अंतरराष्ट्रीय उड़ानों का परिचालन अस्थायी रूप से रोक दिया है।

इस याचिका में कहा गया है कि जेट एयरवेज की सेवाओं को अचानक निलंबित कर दिये जाने से यात्रियों के लिए एक बड़ा संकट पैदा हो गया है, जिसके बारे में उन्हें पहले से नहीं बताया गया था। यह याचिका बेजोन कुमार मिश्र ने दायर की है और नागर विमानन मंत्रालय एवं नागरिक उड्डयन महानिदेशालय को सभी प्रभावित यात्रियों के लिए उचित मुआवजे के साथ हवाई टिकटों के कीमतों की पूर्ण वापसी सुनिश्चित करने अथवा गंतव्य तक पहुंचने के लिए यात्रा की वैकल्पिक व्यवस्था करने का निर्देश देने की मांग की गयी है।

जेट एयरवेज स्टाफ को विशेष ऋण मदद मुहैया कराना चाहती है बैंक यूनियन

इस याचिका पर संभवत: 24 अप्रैल के सुनवाई होने की संभावना है। याचिका अधिवक्ताओं शशांक देव सुधी एवं शशि भूषण की ओर से दायर की गयी है। इसमें कहा गया है कि यह सर्वविदित है कि सभी प्रतिस्पर्धी एयरलाइनों ने अपने किराए में अत्यधिक वृद्धि की है और लाचार उपभोक्ता न केवल पैसे के मामले में, बल्कि अभूतपूर्व पैमाने के मानसिक उत्पीड़न का भी सामना कर रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा गया है कि यात्रियों की गाढ़ी कमाई का 360 करोड़ रुपये टिकटों की वापसी नहीं होने के कारण फंसा हुआ है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Plea in Delhi High Court to provide refund or alternative flights to Jet Airways passengers