अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डीजीसीए बोला- एयरलाइंस कंपनियां पायलट व केबिन क्रू से ड्यूटी से अधिक काम ले सकती हैं

Air India

नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने व्यवस्था दी है कि पायलट और केबिन क्रू के सदस्य ' अपवाद वाली परिस्थितियों में अपनी ड्यूटी से अधिक घंटे काम कर सकते हैं। इसमें एयर ट्रैफिक कंट्रोल की वजह से विलंब और हवाई पट्टी के बंद होने जैसी परिस्थितियां भी शामिल हैं। 
     
डीजीसीए ने कहा कि इस तरह की परिस्थितियों में यात्रियों को असुविधा से बचाने के लिए एयरलाइंस पायलट और केबिन क्रू सदस्यों से ड्यूटी के घंटों के बाद भी काम ले सकती हैं। 
     
दिल्ली उच्च न्यायालय ने 22 मई को व्यवस्था दी थी कि विमानन क्षेत्र के नियामक के पास एयरलाइन कंपनियों को पायलटों को निर्धारित उड़ान ड्यूटी समय की सीमा (एफडीटीएल) से छूट देने का अधिकार है। इसके बाद यह फैसला लिया गया है। 
     
इसमें कहा गया है कि चिकित्सकीय जरूरत , खराब मौसम , हवाई पट्टी बंद होने और एयर ट्रैफिक कंट्रोल की वजह से विलंब होना ऐसी अपवाद वाली परिस्थितियां जिनमें नियामक एफडीटीएल अनिवार्यता से छूट दे सकता है। 
     
डीजीसीए ने यह सर्कुलर 26 जून को जारी किया है जो व्यावसायिक और सामान्य विमान उड़ान में शामिल सभी उड़ान और केबिन क्रू सदस्यों पर लागू होगा। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Pilots cabin crew can work longer in exceptional circumstances says DGCA