ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशभारत में PFI को पाल रहा तुर्किये, ISI भी है शामिल; ED को मिले 100 करोड़ के सुराग

भारत में PFI को पाल रहा तुर्किये, ISI भी है शामिल; ED को मिले 100 करोड़ के सुराग

ईडी के अधिकारियों ने बताया कि जांच में पीएफआई के बैंक खातों में करीब 100 करोड़ के संदिग्ध लेन-देन का पता चला। यह जानकारी भी मिली कि पीएफआई को हवाला के जरिए भी रकम पहुंचाई जा रही थी।

भारत में PFI को पाल रहा तुर्किये, ISI भी है शामिल; ED को मिले 100 करोड़ के सुराग
Nisarg Dixitराजीव ओझा, हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 23 Sep 2022 05:14 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

देश में कट्टरता फैलाने के मंसूबे में जुटा पीएफआई विदेश से आ रहे पैसों पर पल रहा। भारतीय खुफिया एजेंसियों और एनआईए की जांच में खुलासा हुआ है कि तुर्किये (तुर्की) की सरकारी खुफिया एजेंसी नेशनल इंटेलिजेंस ऑर्गेनाइजेशन पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई की मदद से पीएफआई और उनके कारकुनों को फंडिंग कर रही थी। इसका इस्तेमाल टेरर फंडिंग में किए जाने के भी सबूत मिले हैं।

यूपी एसटीएफ और एनआईए को इस खेल की जानकारी हाथरस कांड और सीएए विरोधी आंदोलन के दौरान ही मिल गई थी। इन मामलों में पीएफआई के कई नेताओं की गिरफ्तारी के बाद उनसे हुई पूछताछ में इसके सबूत हाथ लगे थे। लेकिन इसकी कड़ियां जोड़ने में करीब एक साल से ज्यादा का वक्त लग गया। फंडिंग की जांच में पता चला कि ओमान के जरिए भारतीय बैंक खातों में रकम भेजी गई। बैंकों से मिले सुराग के आधार पर मनी ट्रेल के जरिए छापेमारी का आधार मिला।

खुफिया एजेंसियों को मिले पुख्ता सबूत
आतंकी फंडिंग से जुड़े मामले की जांच में खुलासा हुआ है कि देश में पैसे भेजने के लिए खाड़ी देशों में काम करने वाले मजदूरों के बैंक खातों का इस्तेमाल किया जाता है। ये मजदूर भारत में अपने रिश्तेदारों को रकम भेजते थे। बदले में उन्हें हवाला के जरिए मोटा कमीशन दिया जाता था। भारत में तुर्किये की खुफिया एजेंसी के लोग इस पैसों को खाते से निकलवाकर पीएफआई तक पहुंचा देते थे।

100 करोड़ रुपये के लेन-देन का पता चला
उधर, ईडी के अधिकारियों ने बताया कि जांच में पीएफआई के बैंक खातों में करीब 100 करोड़ के संदिग्ध लेन-देन का पता चला। यह जानकारी भी मिली कि पीएफआई को हवाला के जरिए भी रकम पहुंचाई जा रही थी। साथ ही कुछ फर्जी कंपनियों के माध्यम से भी लेन-देन हुआ है।

देश में इस्लामिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए पीएफआई से जुड़े कुछ अभियुक्तों के खाते में सीधे रकम पहुंचाने की भी जानकारी मिली। ईडी ने जांच के बाद पीएफआई के पांच सदस्यों के खिलाफ लखनऊ की स्पेशल पीएमएलए कोर्ट में चार्जशीट भी दायर की है।

epaper