ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशआखिरकार कोई तो बोला.... 'कश्मीर फाइल्स' विवाद पर इजराइली फिल्म मेकर के समर्थन में आईं महबूबा मुफ्ती

आखिरकार कोई तो बोला.... 'कश्मीर फाइल्स' विवाद पर इजराइली फिल्म मेकर के समर्थन में आईं महबूबा मुफ्ती

'द कश्मीर फाइल्स' को लेकर लापिड की आलोचना का समर्थन करते हुए मुफ्ती ने कहा कि फिल्म "मुसलमानों, विशेष रूप से कश्मीरियों को बदनाम करने के लिए सत्ताधारी पार्टी द्वारा प्रचारित एक प्रचार" थी।

आखिरकार कोई तो बोला.... 'कश्मीर फाइल्स' विवाद पर इजराइली फिल्म मेकर के समर्थन में आईं महबूबा मुफ्ती
Amit Kumarलाइव हिन्दुस्तान,श्रीनगरWed, 30 Nov 2022 06:19 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

पीडीपी प्रमुख और जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने बुधवार को इजराइली फिल्म मेकर नदव लापिड का खुलकर समर्थन किया। इजराइली फिल्म निर्देशक और भारत अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (इफ्फी) के अंतरराष्ट्रीय जूरी अध्यक्ष नदव लापिड ‘द कश्मीर फाइल्स’ पर अपनी टिप्पणियों को लेकर विवादों के घेरे में हैं। गोवा में 53वें भारत अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (इफ्फी) के जूरी प्रमुख लापिड ने सोमवार को हिंदी फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ को ‘‘दुष्प्रचार करने वाली’’ और ‘‘भद्दी’’ फिल्म बताया था। इसके बाद उनकी जमकर आलोचना हुई। 

'द कश्मीर फाइल्स' को लेकर लापिड की आलोचना का समर्थन करते हुए मुफ्ती ने कहा कि फिल्म "मुसलमानों, विशेष रूप से कश्मीरियों को बदनाम करने के लिए सत्ताधारी पार्टी द्वारा प्रचारित एक प्रचार" थी। महबूबा ने ट्वीट कर लिखा, “आखिरकार किसी ने एक ऐसी फिल्म का नाम लिया जो और कुछ नहीं बल्कि सत्ताधारी पार्टी द्वारा मुस्लिमों, विशेष रूप से कश्मीरियों को नीचा दिखाने और पंडितों और मुसलमानों के बीच की खाई को चौड़ा करने के लिए प्रचारित की गई थी। दुख की बात है कि सच्चाई को चुप कराने के लिए अब कूटनीतिक माध्यमों का इस्तेमाल किया जा रहा है।"

लापिड ट्विटर पर मंगलवार को लगभग पूरे दिन ट्रेंड करते रहे। कई यूजर्स ने उन पर कश्मीरी हिंदुओं के पलायन को खारिज करने का आरोप लगाया। विवाद गहराता देख, भारत, श्रीलंका और भूटान में इजराइल के राजदूत नोर गिलोन ने ट्विटर पर माफी मांगी। उन्होंने कहा, "एक इंसान के रूप में मुझे शर्म आ रही है और हम अपने मेजबानों से उस बुरे तरीके के लिए माफी मांगना चाहते हैं।"

गोवा में 20 नवंबर को शुरू हुए इफ्फी का सोमवार को रंगारंग समापन हुआ लेकिन इसमें लापिड के बयान ने आशा पारेख, चिरंजीवी, अक्षय कुमार, आयुष्मान खुराना और राणा दग्गूबती जैसे अदाकारों की मौजूदगी को फीका कर दिया। समारोह में केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर, सूचना और प्रसारण राज्य मंत्री डॉ एल मुरुगन और गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत भी शामिल हुए थे।