ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशपासपोर्ट बनवाने की प्रक्रिया को आसान बनायेगा विदेश मंत्रालय, पुलिस वेरिफिकेशन में लगेगा कम समय- जयशंकर

पासपोर्ट बनवाने की प्रक्रिया को आसान बनायेगा विदेश मंत्रालय, पुलिस वेरिफिकेशन में लगेगा कम समय- जयशंकर

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा है कि पासपोर्ट बनाने की प्रक्रिया को आसान करने के लिए कार्य चल चल रहा है। उन्होंने कहा है कि पुलिस वेरिफिकेशन में लगने वाले समय को भी कम करने के लिए काम चल रहा है।

पासपोर्ट बनवाने की प्रक्रिया को आसान बनायेगा विदेश मंत्रालय, पुलिस वेरिफिकेशन में लगेगा कम समय- जयशंकर
Jagritiलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 24 Jun 2024 02:22 PM
ऐप पर पढ़ें

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सोमवार को कहा कि पासपोर्ट वितरण की प्रक्रिया को बेहतर बनाने के कार्य चल रहा है। इन प्रयासों के तहत विदेश मंत्रालय पासपोर्ट आवेदकों के पुलिस सत्यापन में लगने वाले समय को कम करने के लिए पुलिस के साथ काम कर रहा है। पासपोर्ट सेवा दिवस के मौके पर एक संदेश में जयशंकर ने कहा कि विदेश मंत्रालय यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है कि पासपोर्ट अंतरराष्ट्रीय व्यापार और निवेश को सुविधाजनक बनाकर और वैश्विक गतिशीलता को बढ़ावा दे। लोगों को बेहतर पासपोर्ट सेवाएं प्रदान करने के लिए मंत्रालय ने 440 डाकघर पासपोर्ट सेवा केंद्र शुरू किए हैं। देशभर में पहले से 93 पासपोर्ट सेवा केंद्र, 533 पासपोर्ट प्रोसेसिंग सेंटर और 37 क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय मौजूद हैं। मंत्रालय ने विदेशों में 187 भारतीय मिशन में भी पासपोर्ट जारी करने की प्रणाली शुरू की है। 

अपने बयान में जयशंकर ने कहा, "पासपोर्ट वितरण पारिस्थितिकी तंत्र को और बेहतर बनाने के लिए मंत्रालय पुलिस सत्यापन में लगने वाले समय को कम करने के लिए राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों की पुलिस के साथ लगातार काम कर रहा है।" उन्होंने कहा कि पुलिस सत्यापन प्रक्रिया को सरल बनाने वाले "एमपासपोर्ट पुलिस ऐप" को 25 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 9,000 पुलिस स्टेशनों में शुरू किया गया है। उन्होंने कहा, "पासपोर्ट सेवा प्रणाली को कागज रहित डॉक्यूमेंटेशन प्रक्रिया की सुविधा के लिए डिजिलॉकर प्रणाली के साथ भी सफलतापूर्वक एकीकृत किया गया है।"

जयशंकर ने कहा कि सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है कि पासपोर्ट अंतरराष्ट्रीय व्यापार और निवेश को सुविधाजनक बनाए, पर्यटन को बढ़ावा दे और वैश्विक गतिशीलता, शिक्षा, कौशल विकास और राजनयिक संबंधों को भी सही दिशा में प्रभावित करें। उन्होंने कहा कि पासपोर्ट संकट की घड़ी जैसे कि भारतीय नागरिकों की सफलतापूर्वक निकासी और सहायता में भी मदद करते हैं।

जयशंकर ने कहा कि विदेश मंत्रालय केंद्रीय पासपोर्ट संगठन के साथ मिलकर नागरिकों को समय पर, विश्वसनीय, सुलभ, पारदर्शी और कुशल तरीके से पासपोर्ट सेवाएं प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। मंत्रालय ने 2023 के दौरान 16.5 मिलियन पासपोर्ट-संबंधी सेवाएं प्रदान की। इसी अवधि में पासपोर्ट और अन्य संबंधित सेवाओं में 15% की वृद्धि हुई। 2023 में एक महीने में जमा किए गए पासपोर्ट आवेदनों की संख्या 1.4 मिलियन के आंकड़े को पार कर गई।