DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हार के बाद पार्टियां विभाजित हो जाती है लेकिन भाजपा नहीं: अमित शाह

gandhi nagar lok sabha results 2019

भाजपा प्रमुख अमित शाह ने शनिवार को कहा कि चुनावों में हार के बाद कई पार्टियां विभाजित हो जाती हैं। क्योंकि वह व्यक्ति, परिवार और जाति के आधार पर चलती हैं, लेकिन भाजपा के साथ ऐसा नहीं है। उन्होंने कहा कि भाजपा अपनी विचारधारा के आधार पर पिछले कुछ वर्षों में मजबूत हुई है।

तेलंगाना में पार्टी के सदस्यता अभियान का शुभारंभ करते हुए उन्होंने कहा कि देश के चुनावी इतिहास में कई पार्टियां महज एक ही हार से टूट गई और विभाजित हो गई। उन्होंने कहा कि अंग्रेजी वर्णमाला ए-बी-सी-डी में ऐसा कोई अक्षर नहीं है, जिस पर देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस के टूटने के बाद कोई पार्टी नहीं बनी हो। कांग्रेस ओ, कांग्रेस यू सभी (ए-बी-सी-डी) नाम से कांग्रेस पार्टी बनी है।

शाह ने कहा कि केवल एक हार के बाद कांग्रेस पार्टी टूट गई। उन्होंने तेलुगू देशम पार्टी का भी जिक्र करते हुए कहा कि यह पार्टी भी टूट गई। उन्होंने कहा कि ऐसी पार्टियां हार बर्दाश्त नहीं कर सकती क्योंकि वे व्यक्ति, परिवार और जाति के आधार पर चलती हैं। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि हालांकि भाजपा के साथ ऐसा नहीं है कि जो विचारधारा पर आधारित है और भारत माता को 'विश्व गुरु बनाने के सपने के साथ आगे बढ़ रही है। सदस्यता अभियान की औपचारिक रूप से शुरुआत करने से पहले भाजपा अध्यक्ष हैदराबाद के नजदीक स्थित एक आदिवासी परिवार के घर गए और उन्हें भाजपा की सदस्यता दिलाई। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी में सदस्यता अभियान की शुरुआत की थी।

तेलंगाना में 18 लाख नए सदस्य बनाने का लक्ष्य

शाह ने तेलंगाना में 18 लाख नए सदस्य शामिल करने का लक्ष्य रखा, जबकि राज्य ईकाई ने 12 लाख का लक्ष्य रखा था। उन्होंने कहा कि अगर राज्य ईकाई यह नहीं कर सकी तो वह खुद हर जिले में जाकर इस अभियान को आगे बढ़ाएंगे। शाह ने कहा कि मैंने भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव पी मुरलीधर राव से पूछा तो उन्होंने मुझे तेलंगाना में मौजूदा 18 लाख सदस्यों में 12 लाख नए सदस्यों को जोड़ने की योजना बताई। केंद्रीय गृह मंत्री ने शनिवार को जन संघ संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती के मौके पर उन्हें श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग बनाए रखने में उनकी भूमिका को याद किया।

13 विधायकों के इस्तीफे के बाद कर्नाटक सरकार पर मंडराए खतरे के बादल

शर्मनाक ! बुजुर्ग का ऐसा वेश देखकर टीटीई ने शताब्दी ट्रेन से उतारा

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Parties split after defeat but not BJP says Amit Shah