DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाकिस्तान आतंकवाद को लेकर गंभीर है तो दाऊद, सलाउद्दीन भारत को सौंपे: सूत्र

dawood ibrahim

पाकिस्तान अगर आतंकवाद से निपटने को लेकर गंभीर है तो उसे कम से कम दाऊद इब्राहिम, सैयद सलाउद्दीन और ऐसे अन्य आतंकवादियों को भारत को सौंप देना चाहिए जो भारतीय नागरिक हैं और वहां (पाकिस्तान में) रह रहे हैं। सरकार के सूत्रों ने शनिवार को यह बात कही। उन्होंने कहा कि पुलवामा हमले के बाद भी पाकिस्तान जैश ए मोहम्मद और अन्य आतंकवादी समूहों के खिलाफ ठोस कार्रवाई करने में विफल रहा है।

संयुक्त राष्ट्र में भारत की उम्मीदों को तब झटका लगा जब चीन ने चौथी बार वीटो का इस्तेमाल करते हुए संयुक्त राष्ट्र में जैश ए मोहम्मद के सरगना हाफिज सईद को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित होने से बचा लिया। मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करने के लिए संयुक्त राष्ट्र में फ्रांस, यूएस और ब्रिटेन ने प्रस्ताव पेश किया था। 

आर्मी चीफ ने कहा, पाकिस्तान ने माहौल बिगाड़ा तो फिर होगी कार्रवाई 

यह अभी भी स्पष्ट नहीं है कि पाकिस्तान द्वारा प्रतिबंधात्मक नजरबंदी में किसे रखा गया है, जबकि फरवरी में पुलवामा हमले के बाद जैश ने यह दावा किया था। इस्लामाबाद इस मामले में गंभीरता दिखाते हुए दो भारतीयों को सौंप सकता है जो यहां आतंकवाद और गंभीर अपराधों में मामले में वॉन्डेट हैं। इस में एक अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम है तो दूसरा हिज्बुल मुजाहिद्दीन का चीफ सलाहुद्दीन है।

भारतीय अधिकारियों ने बताया है कि इब्राहिम को अमेरिका और संयुक्त राष्ट्र 1993 मुंबई बम ब्लास्ट केस में ग्लोबल टेररिस्ट घोषित कर रखा है। मुंबई बम ब्लास्ट केस में 257 लोगों की मौत हो गई थी। इब्राहिम इस वक्त पाकिस्तान के शहर कराची में है। वहीं सलाहुद्दीन भी ग्लोबल टेररिस्ट है। वह पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर और रावलपिंडी में स्थित ठिकानों से अपने आतंकी संगठन को चलाता है।

सूत्रों ने बताया कि अगर पाकिस्तान वास्तव में यह संदेश देना चाहता है कि वह आतंकवाद के मुद्दे पर भारत की चिंताओं का समाधान करना चाहता है तो इसे दाऊद, सलाउद्दीन और अन्य आतंकवादियों को सौंप देना चाहिए जो भारतीय नागरिक हैं। कुछ आतंकवादियों को एहतियातन हिरासत में लेने की पाकिस्तान की कार्रवाई का जिक्र करते हुए सूत्रों ने कहा कि भारत उन्हें महज दिखावा मानता है। दिखावे से कुछ नहीं होने वाला है।

'भारत का मानना है, चीन को पता है पाकिस्तान में कई आतंकवादी समूह'

भारत पाकिस्तान से दाऊद, सलाउद्दीन एवं अन्य कई आतंकवादियों को सौंपने के लिए कहता रहा है जो कई आतंकवादी घटनाओं के सिलसिले में भारत में वांछित हैं। सूत्रों ने कहा कि भारत ने इस्लामाबाद से कई महत्वपूर्ण ब्यौरे साझा किये हैं जिनमें पाकिस्तान की धरती से संचालित आतंकवादी समूहों के बारे में जानकारी शामिल हैं, इनकी पुष्टि चाहे तो कोई तीसरा पक्ष भी कर सकता है।

पुलवामा हमले के बाद भारत ने आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान पर राजनयिक दबाव बढ़ाते हुए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उसे अलग-थलग करने का प्रयास किया है।

(इनपुट एजेंसी से)

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Pakistan should hand over Dawood and Salahudeen to India to show sincerity in tackling terror: Sources