DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक सेना लगातार तोड़ रही संघर्षविराम, भारत ने दिया मुंहतोड़ जवाब

जम्मू कश्मीर सुरक्षाबल (ANI)

पाकिस्तान की सेना ने लगातार तीसरे दिन गुरुवार को भी संघर्षविराम का उल्लंघन किया। उसने जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा से लगी अग्रिम चौकियों और नागरिक इलाकों पर गोलाबारी की, जिसका भारतीय बलों ने मुंहतोड़ जवाब दिया। इस बीच जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा पर गुरुवार को पाकिस्तानी गोलीबारी में दो भारतीय जवान घायल हो गए। 
रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल देवेंद्र आनंद ने कहा, जवान बालाकोट सेक्टर में पाकिस्तानी गोलीबारी में घायल हुए। जवानों को इलाज के लिए अस्पताल में भतीर् करा दिया गया है। हमारे सैनिकों ने मुंहतोड़ जवाब दिया है।

बीते वर्ष सबसे ज्यादा उल्लंघन :

पिछले साल पाकिस्तानी सैनिकों ने भारत-पाक सीमा पर 2,936 बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया था। यह बीते 15 साल में सबसे ज्यादा था। अधिकारियों ने बताया, पाक सेना ने गुरुवार सुबह पुंछ सेक्टर में नियंत्रण रेखा स्थित अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी शुरू कर दी। वह गोले भी दागने लगी। 

सीमावर्ती गांवों के लोग भयभीत :

उन्होंने बताया, सीमा की रखवाली करने वाले भारतीय जवानों ने पाक सेना की इस हरकत का मुंहतोड़ जवाब दिया। पाक सेना ने बुधवार को भी राजौरी जिले के नौशेरा सेक्टर स्थित कलाल अग्रिम इलाके में दो बार गोलीबारी की थी और गोले दागे थे। लगातार हो रही गोलीबारी के कारण सीमा स्थित गांवों में रहने वाले लोग भयभीत हैं। 

नए साल में सात दिन उल्लंघन : 

पाक सेना ने मंगलवार को भी पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा पर गोलीबारी की थी। दरअसल पाक सैनिक नए साल के पहले 10 दिनों में से सात दिन पुंछ सेक्टर में नियंत्रण रेखा स्थित अग्रिम चौकियों पर संघर्षविराम का उल्लंघन कर चुके हैं। भारत-पाक फ्लैग मीटिंग के दौरान, साल 2003 में संघर्षविराम पर बनी समझ का संयम से पालन करने का आह्वान करने के बावजूद पाकिस्तान भारत-पाक सीमा क्षेत्र में संघर्षविराम का उल्लंघन करता रहा है। 

अधिकारियों ने कहा कि उत्तरी कमान के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने बीते सोमवार अग्रिम इलाकों का दौरा किया था। उन्होंने जम्मू एवं राजौरी जिलों में सुरक्षा स्थिति की समीक्षा की थी। उन्होंने व्हाइट नाइट के कोर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल परमजीत सिंह के साथ परिचालन-संबंधी तैयारियों और मौजूदा सुरक्षा स्थिति की समीक्षा करने के लिए राजौरी और अखनूर क्षेत्रों की प्रमुख चौकियों का दौरा किया।

सीवीसी रिपोर्ट बनी आलोक वर्मा के सीबीआई से बाहर होने का कारण

फिर सामने आई ममता की केंद्र से तल्खी,आयुष्मान भारत से अलग होगा प.बंगाल

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Pak army continues to break ceasefire