DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   देश  ›  कोरोना काल में संकटमोचक बनी रेलवे, अब तक पहुचाई 30 हजार टन से ज्यादा ऑक्सीजन
देश

कोरोना काल में संकटमोचक बनी रेलवे, अब तक पहुचाई 30 हजार टन से ज्यादा ऑक्सीजन

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Ashutosh Ray
Sun, 13 Jun 2021 06:54 PM
कोरोना काल में संकटमोचक बनी रेलवे, अब तक पहुचाई 30 हजार टन से ज्यादा ऑक्सीजन

भारतीय रेलवे ने देश के विभिन्न हिस्सों में अब तक 30 हजार टन से अधिक तरल चिकित्सा ऑक्सीजन (एलएमओ) का परिवहन किया है। रेल मंत्रालय ने रविवार को यह जानकारी दी। मंत्रालय के मुताबिक 421 ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेनों के जरिए 1734 टेंकरों में 30182 टन एलएमओ का परिवहन किया गया है। 

अब तक महाराष्ट्र में 614 टन, उत्तर प्रदेश में 3797 टन, मध्य प्रदेश में 656 टन, दिल्ली में 5722 टन, हरियाणा में 2354 टन, राजस्थान में 98 टन, कनार्टक में 3782 टन, उत्तराखंड में 320 टन, तमिलनाडु में 4941 टन, आंध्र प्रदेश में 3664 टन, पंजाब में 225 टन, केरल में 513 टन, तेलंगाना में 2972 टन, झारखंड में 38 टन और असम में 480 टन एलएमओ की आपूर्ति की गयी है।

एलएमओ के परिवहन वाली महत्वपूर्ण मालगाड़ियों की औसत गति लंबी दूरी पर ज्यादातर मामलों में 55 किलोमीटर प्रति घंटे से अधिक है। रेलवे की परिचालन टीमें इस चुनौतीपूर्ण समय में लगातार 24 घंटे काम कर रही हैं ताकि शीघ्र ही ऑक्सीजन को पहुंचाया जा सके। विभिन्न वर्गों में क्रू बदलने वाले स्टेशनों पर ट्रेन के ठहराव को घटाकर एक मिनट कर दिया गया है।

बता दें कि अप्रैल मई में कोरोना वायरस के नए मामलों में भारी उछाल के बाद देश के कई राज्यों में तरल ऑक्सीजन की डिमांड भी बढ़ गई थी। ऐसे में अस्पतालों में जल्दी से जल्दी ऑक्सीजन पहुंचाने के लिए रेलवे की मदद ली जा रही है। दिल्ली समेत कई राज्यों को रेलवे के जरिए ऑक्सीजन की सप्लाई की जा रही है।

संबंधित खबरें