DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पूर्व अधिकारियों ने लिखी मोदी को चिट्ठी:‘आजाद भारत का सबसे अंधकार समय'

पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ को खून से लिखा पत्र

सेवानिवृत्त सरकारी अधिकारियों के एक समूह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे खुले पत्र में कहा है कि यह आजाद भारत का सबसे अंधकारमय वक्त है। यह पत्र उन्नाव और कठुआ बलात्कार मामलों की पृष्ठभूमि में लिखा गया है। 

पत्र लिखने वाले 49 पूर्व अधिकारियों के समूह ने कहा है, ‘आजाद भारत का यह सर्वाधिक अंधकारमय वक्त है। हमारी सरकार, हमारे सियासी दलों के नेताओं ने अपर्याप्त और कमजोर प्रतिक्रिया दी।’ कठुआ में आठ वर्षीय बच्ची की बलात्कार के बाद हत्या की घटना के संदर्भ में पत्र में लिखा गया कि जो ‘पाशविकता और बर्बरता बरती गई है वह दिखाती है कि देश अनैतिकता के किस गर्त में जा गिरा है।’ पत्र में कहा है, यह बहुसंख्यक की आक्रामकता की संस्कृति है। इसके कारण वे सांप्रदायिक तत्व मजबूत हुए हैं, जिनका विकृत एजेंडा है। पत्र में कहा गया कि एक इंसान द्वारा दूसरे इंसान से बर्बरता से पेश आना बताता है कि एक समाज के रूप में और एक इंसान के तौर पर हम विफल हो गए हैं। 

कठुआ गैंगरेप: आरोपियों ने खुद को बताया बेकसूर, नार्को टेस्ट की मांग की

इसमें कहा गया, ‘हम उस राष्ट्र के तौर पर विफल हो गए हैं जिसे अपनी नैतिकता, आध्यात्मिक और सांस्कृतिक विरासत पर गर्व है, जिसने एक समाज के रूप में सहिष्णुता, क्षमा और भाईचारे के सभ्य समाज के मूल्यों को संजो कर रखा है। इसमें प्रधानमंत्री से कहा गया कि वह उन्नाव और कठुआ में पीड़ितों के परिवारों से मिलें और उनसे हम सबकी ओर से माफी मांगे।

इन 49 अधिकारियों में पुणे पुलिस के पूर्व आयुक्त मीरान बोरावनकर, प्रसार भारती के पूर्व सीईओ जवाहर सिरकर, मुंबई पुलिस के पूर्व आयुक्त जुलियो रिबेरो, आरटीआई कार्यकर्ता अरुणा रॉय और पूर्व सूचना आयुक्त वजाहत हबीबुल्लाह शामिल हैं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Our darkest hour former IAS officers write open letter to PM Modi on Kathua Unnao cases