DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   देश  ›  बीएमसी कमिश्नर के अनुरोध पर तुरंत मदद को आगे आए राजीव गौबा

देशबीएमसी कमिश्नर के अनुरोध पर तुरंत मदद को आगे आए राजीव गौबा

विशेष संवाददाता,नई दिल्लीPublished By: Madan Tiwari
Mon, 10 May 2021 10:28 PM
बीएमसी कमिश्नर के अनुरोध पर तुरंत मदद को आगे आए राजीव गौबा

कोरोना प्रबंधन को लेकर केंद्र राज्यों में चल रहे आरोप प्रत्यारोप के बीच कई ऐसी खबरें भी सामने आ रही हैं जो ये दर्शाती हैं कि संकट की घड़ी में हर स्तर पर यथासंभव मदद के प्रयास किए गए हैं। महाराष्ट्र में जहां कोरोना का सबसे बड़ा संकट है, वहां बीएमसी के कमिश्नर इकबाल सिंह चहल ने एक इंटरव्यू में कहा है कि 16 अप्रैल की रात उनके द्वारा मदद मांगे जाने पर कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने महज 15-20 सेकेंड के बाद उन्हें फोन किया और समस्या का समाधान किया।

इकबाल सिंह के मुताबिक उनके मैसेज के 15-20 सेकेंड के भीतर ही केंद्रीय सचिव राजीव गाबा का फोन उनके पास आ गया और उन्होंने समस्या के समाधान पर न सिर्फ विस्तार से चर्चा की, बल्कि तत्परता से उसे दूर करने के लिए भी जुट गए। कमिश्नर इकबाल सिंह का यह इंटरव्यू सोशल मिडिया पर छाया हुआ है और केंद्र सरकार की तरफ से त्वरित कार्रवाई की लोग जमकर तारीफ कर रहे हैं।

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडण्नवीस ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए ट्वीट किया है कि कौन सच बोल रहा है ? बीएमसी कमिश्नर या फिर महाराष्ट्र विकास अघाड़ी के मंत्री? उन्होंने कहा कि इससे साफ हो गया है कि केंद्र से महाराष्ट्र को हर संभव मदद दी जा रही है।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने ट्वीट किया कि बीएमसी कमिश्नर अपने बयान में कह रहे हैं कि भारत सरकार की सहायता से मुंबई में ऑक्सीजन संकट को खत्म किया गया। वहीं केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने ट्वीट किया है, ''बीएमसी कमिश्नर ने अपनी बात स्पष्ट तौर पर कही है कि किस प्रकार केंद्र ने तत्काल मदद की है, फिर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री क्यों इस समय राजनीति कर रहे हैं।''

संबंधित खबरें