ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशओमिक्रॉन से दोबारा हो सकते हैं संक्रमित, हेल्थ एक्सपर्ट्स ने दी मास्क पहनने की सलाह

ओमिक्रॉन से दोबारा हो सकते हैं संक्रमित, हेल्थ एक्सपर्ट्स ने दी मास्क पहनने की सलाह

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की वजह से देश में महामारी की तीसरी लहर जारी है। आज भी 3.37 लाख से अधिक नए मामले सामने आए हैं। इस बीच शीर्ष स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने लोगों को टीका लगवाने और...

ओमिक्रॉन से दोबारा हो सकते हैं संक्रमित, हेल्थ एक्सपर्ट्स ने दी मास्क पहनने की सलाह
Himanshu Jhaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्ली।Sat, 22 Jan 2022 09:35 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की वजह से देश में महामारी की तीसरी लहर जारी है। आज भी 3.37 लाख से अधिक नए मामले सामने आए हैं। इस बीच शीर्ष स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने लोगों को टीका लगवाने और कोरोना गाइडलाइंस का पूरी तरह से पालन करने के लिए कहा है। उन्होंने यह भी कहा है कि अगर आप ओमिक्रॉन से उबर चुके हैं, इसके बाद भी इससे संक्रमित हो सकते हैं। 

टीओआई की एक रिपोर्ट के मुताबिक, महाराष्ट्र कोविड -19 टास्क फोर्स के सदस्य डॉ शशांक जोशी ने को बताया, “पुन: संक्रमण एक ऐसी चीज है जिसे हम कोविड में बिल्कुल भी नजरअंदाज नहीं कर सकते है। चाहे वह किसी भी प्रकार का हो। भले ही लोग हाल ही में ओमिक्रॉन संक्रमण से उबरे हों, वे अनुचित मास्किंग या बिना मास्किंग का जोखिम नहीं उठा सकते हैं। इस वैरिएंट के साथ पुन: संक्रमण से अभी भी इंकार नहीं किया गया है।"

टास्क फोर्स के एक अन्य सदस्य इंटेंसिविस्ट डॉ. राहुल पंडित ने कहा: “भारत में अभी कहीं भी ओमिक्रॉन रीइन्फेक्शन का कोई आधिकारिक मामला सामने नहीं आया है। लेकिन कोविड के ठीक होने के बाद कोविड-उपयुक्त व्यवहार का पालन नहीं करना अभी भी एक विकल्प नहीं है क्योंकि कोई नहीं जानता कि भविष्य में कौन सा संस्करण सामने आ सकता है। इसलिए कोरोना गाइडलाइंस का पालन करना जरूरी है।”

हालांकि, माइक्रोबायोलॉजिस्ट डॉ गगनदीप कांग ने कहा, "यदि हम दो संक्रमणों (प्रारंभिक संक्रमण और पुन: संक्रमण) के बीच तीन महीने की अवधि को पुन: संक्रमण की परिभाषा के रूप में उपयोग करते हैं, तो अभी हमारे पास स्पष्ट डेटा नहीं है। हालांकि, यह निश्चित रूप से संभव है कि लोग दो बार या उससे अधिक बार कोरोना संक्रमित हो सकते हैं।"

कोविड -19 के लिए क्लिनिकल रिसर्च पर आईसीएमआर नेशनल टास्क फोर्स के डॉ संजय पुजारी ने कहा, "हाल ही में ओमिक्रॉन संक्रमण के बाद न्यू ओमिक्रॉन रीइन्फेक्शन केवल वास्तविक मामले हो सकते हैं। ओमिक्रॉन संक्रमण के समग्र बोझ को देखते हुए यह अत्यंत दुर्लभ होना चाहिए। हमें मजबूत डेटा की प्रतीक्षा करने की आवश्यकता है। चूंकि आरटी-पीसीआर कुछ रोगियों में लंबी अवधि के लिए सकारात्मक हो सकता है, यह पुन: संक्रमण का संकेत भी नहीं दे सकता है।''

epaper