ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशविजिलेंस टीम देख पड़ोसी के घर में कूदा इंजीनियर, 17 खातों में जमा है अकूत काला धन

विजिलेंस टीम देख पड़ोसी के घर में कूदा इंजीनियर, 17 खातों में जमा है अकूत काला धन

ओडिशा की विजलेंस टीम एक जूनियर इंजीनियर के घर आय से अधिक संपत्ति के आरोप की जांच करने पहुंची थी। छापेमारी के डर से जूनियर इंजीनियर पड़ोसी के छत पर कूद गया और 9 घंटों तक छिपा रहा।

विजिलेंस टीम देख पड़ोसी के घर में कूदा इंजीनियर, 17 खातों में जमा है अकूत काला धन
Himanshu Tiwariदेबब्रत मोहंती, हिन्दुस्तान टाइम्स,भुवनेश्वरThu, 30 Nov 2023 08:20 PM
ऐप पर पढ़ें

आय से अधिक संपत्ति की जांच के लिए ओडिशा विजिलेंस टीम एक जूनियर इंजीनियर के घर छापेमारी के लिए पहुंची। छापेमारी से बचने के लिए जूनियर इंजीनियर अपने पड़ोसी के छत पर कूद गया और वहां से भाग गया। ओडिशा के पंचायतीराज विभाग के ग्रामीण जल आपूर्ति और स्वच्छता प्रभाग में काम करने वाला जूनियर इंजीनियर नौ घंटे तक विजलेंस टीम से छिपा रहा है। बाद में जब वह टीम के सामने आया तो बहाने बनाने लगा।

सुनील कुमार पाधी नाम के जूनियर इंजीननियर के घर विजिलेंस टीम छापेमारी के लिए आई थी। पाधी गुरुवार को भुवनेश्वर के जगमारा इलाके में अपने तीन मंजिला घर पर था तभी राज्य विजिलेंस विभाग की एक टीम ने आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के आरोपों की जांच के लिए उसके घर पर छापा मारा। टीम में शामिल एक विजिलेंस अधिकारी ने कहा, "जब विजिलेंस अधिकारी ने सुबह 4 बजे उसके घर का दरवाजा खटखटाया, तो वह अपने घर की छत पर गया और बगल के पड़ोसी की छत पर कूदकर भाग गया।"

विजिलेंस अधिकारियों ने गंजम में पाधी के अन्य परिसरों पर छापेमारी जारी रखी, वह दोपहर 1 बजे तक अपने पड़ोसी के घर से बाहर नहीं आया। जब विजिलेंस टीम पता लगाने की कोशिश की तो वह नाटकीय रूप से टीम के सामने आया। अपने गैरमौजूद होने के पीछे उसने अजीब कारण बताया।

पाधी ने कहा, ''मैं छापेमारी के दौरान छत से कूदकर नहीं भागा... मुझे छापेमारी की जानकारी ही नहीं थी। अगर मैं भाग जाता तो वापस नहीं आता। मैं जांच में सहयोग करूंगा।'' विजिलेंस अधिकारियों ने कहा कि पाधी ने पास 1.10 करोड़ रुपये की एक तिमंजिला इमारत, गंजम में एक कमर्शियल कॉम्पलेक्स, एक कार और 4 दोपहिया वाहन है। पाधी के पास कम से कम 17 बैंक खाते हैं और कई अन्य जमीनें भी हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें