ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशओडिशा में हीटवेव से 24 घंटों में 45 लोगों की मौत, देश में 211 पहुंचा आंकड़ा

ओडिशा में हीटवेव से 24 घंटों में 45 लोगों की मौत, देश में 211 पहुंचा आंकड़ा

ओडिशा में पिछले 24 घंटों में 45 लोगों ने हीटवेव से अपनी जान गवाई। देश में गर्मी के कारण 211 लोगोम की मौत दर्ज। बिहार में एक कॉन्स्टेबल की पोलिंग ड्यूटी के दौरान गर्मी की वजह से मौत हुई।

ओडिशा में हीटवेव से 24 घंटों में 45 लोगों की मौत, देश में 211 पहुंचा आंकड़ा
imd heatwave alert
Prachiलाइव हिन्दुस्तान,ओडिशाMon, 03 Jun 2024 10:41 AM
ऐप पर पढ़ें

गर्मी के भीषण प्रकोप की वज़ह से देश के कई हिस्सों में लोग अपनी जान गवां रहे हैं। जान गवांने वालों की मौत का आंकड़ा रोज बढ़ता ही जा रहा है। देश में हीटवेव के कहर से 200 से ज्यादा लोगों की जान चली गई है, और इनमें ओडिशा में अकेले 45 लोगों की मौत हुई है। 

रविवार को ओडिशा में 45 मौत दर्ज की गई और बिहार के औरंगाबाद जिले में पोलिंग ड्यूटी पर तैनात एक कॉन्स्टेबल की मृत्यु हीटवेव के कारण हुई है, जिससे देश में गर्मी के कारण हुई मौत का आंकड़ा 211 पहुंच गया है। जिसमें से अकेले ओडिशा के अंदर 141 लोगों ने अपनी जान गवाई है। ओडिशा सरकार के मुताबिक पिछले 24 घंटों में 45 लोगों की मौत दर्ज की गई, जिसमें से पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार 26 लोगों की जान हीटवेव के कारण हुई। 
सुंदरगढ़ के अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट आशुतोष कुलकर्णी ने कहा कि ‘ओडिशा के पश्चिमी भाग से बहुत सारी संदिग्ध हीटवेव से हुई मौत दर्ज हो रहीं हैं। सबसे ज्यादा हीटवेव का प्रभाव सुंदरगढ़ जिले पर पड़ा, जहां 3 दिनों में 35 लोगों की जान गई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने पुष्टि की 6 लोगों की मौत लू लगने से हुई।’

बलांगीर जिले में 20 लोगों की मौत दर्ज की गई, जिसमें से 4 की मौत लू लगने से हुई। संबलपुर में 18 लोगों की मौत दर्ज की गई। संबलपुर के जिला कलेक्टर अक्षय सुनील अग्रवाल ने बताया कि पोस्टमार्टम के 5 लोगों की मौत का कारण हीटवेव आया है और बाकी मौतों का कारण हीटवेव होने की संभावना है। 

शनिवार को बिहार के औरंगाबाद जिले में कॉन्स्टेबल राम भजन सिंह बस में इवीएम मशीन को ले जाते हुए बेहोश हो गए। उन्हें पटना एम्स में भर्ती कराया गया, जहां उनकी मृत्यु हो गई। 
मौसम विभाग के अनुसार हीटवेव की स्थिति बुधवार तक पश्चिमी जिलों में बनी रहेगी। तटीय क्षेत्रों में गर्म और आद्र हवाएं चलेगी, जब तक दक्षिण- पश्चिम मॉनसून नहीं आ जाता है।