DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीएम के आपत्तिजनक पोस्टर से नाराज NSA डोभाल ने किया ट्वीट, मची खलबली

national security adviser ajit doval  vipin kumar ht photo

पिछले दिनों लंदन में धारा 370 हटाने के विरोध में हुए विरोध प्रदर्शन के दौरान इस्तेमाल किए गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आपत्तिजनक पोस्टर को एएमयू कैंपस से जोड़ने का मसला बुधवार को भी छाया रहा। एनएसए अजित डोभाल ने भी एएमयू को लेकर रोष जताया तो अलीगढ़ पुलिस ने आनन-फानन में इसकी सफाई दी। देर शाम एएमयू प्रबंधन ने थाने में तहरीर देकर विवि की छवि खराब करने वाले के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की तहरीर दी है। पुलिस ने इस पोस्टर को अपने ग्रुप में पोस्ट करने पर एएमयू के एक छात्र को गिरफ्तार किया है।

मंगलवार को सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री का एक आपत्तिजनक पोस्टर वायरल हुआ। पोस्टर के साथ कैप्शन के जरिए पोस्ट में बताया गया कि यह पोस्टर कश्मीर में धारा 370 हटाये जाने के बाद एएमयू में लगाया गया है। इस पोस्ट को वायरल करने वाले दिल्ली निवासी राजेश्वर सिंह (एएमयू के पूर्व छात्र) ने लिखा था कि यह पोस्टर एएमयू कैंपस में लगाया गया है और बेहद निंदनीय है। आरोपियों पर कार्रवाई की जाए। इसको लेकर उन्होंने अलीगढ़ पुलिस, प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री आदि से शिकायत की थी। मामला संज्ञान में आने के बाद अलीगढ़ पुलिस हरकत में आई। जांच की गई तो पुलिस ने इस पोस्टर के एएमयू से जुड़ा होने का खंडन किया।  

बुधवार को इस मामले में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने भी ट्वीट कर नाराजगी जतायी। उन्होंने कहा कि सूत्रों के हवाले से मालूम हुआ कि एएमयू में इस तरह के पोस्टर लगाये गए हैं।  ऐसे लोगों को पढ़ाने का क्या फायदा, जिनकी सोच ही ऐसी हो। उन्होंने मुख्यमंत्री से पोस्टर लगाने वालों का ठीक से इलाज करने की मांग की। उधर, प्रकरण में एएमयू सुरक्षा अधिकारी ने भी थाने में तहरीर दी। जिसमें कहा कि वायरल पोस्टर का एएमयू से कोई लेना-देना नहीं है।

पोस्टर वायरल करने वाला एमबीए छात्र निकला

प्रधानमंत्री का आपत्तिजनक पोस्टर वायरल करने के मामले में पुलिस ने बुधवार को सिविल लाइन क्षेत्र के जमालपुर निवासी जैद को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में पता चला कि छात्र बिहार के मुंगेर जिले के किशनगंज स्थित एएमयू के कॉलेज में एमबीए प्रथम वर्ष का छात्र है। उस पर आपत्तिजनक पोस्टर को अपने स्टेटस पर लगाने व दोस्तों को शेयर करने के आरोप है। पुलिस ने आईटी एक्ट व शांतिभंग में छात्र को निरुद्ध करते हुए गिरफ्तार करके मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया, जहां से उसे जमानत मिल गई।

एएमयू में नहीं लगा पोस्टर: अलीगढ़ पुलिस 

सोशल मीडिया पर वायरल प्रधानमंत्री का बैनर पर लगे अशोभनीय चित्र का अलीगढ़ पुलिस खंडन करती है। सोशल मीडिया पर वायरल पोस्ट के संबंध में पुलिस उपाधीक्षक की जांच रिपोर्ट के आधार पर एएमयू परिसर में प्रधानमंत्री भारत का उक्त प्रकार का अशोभनीय पोस्टर नहीं लगाया गया है। उक्त बैनर किसी अन्यत्र स्थान से है। एएमयू से गलत जोड़कर पोस्ट वायरल किया जा रहा है।

पोस्टर ने लोगों की भावनाओं को किया आहत : एएमयू 

एएमयू के सुरक्षा अधिकारी अजीम अख्तर ने सिविल लाइन थाने में दी तहरीर में कहा कि 19 अगस्त को राजेश्वर सिंह पुत्र अज्ञात ने ट्वीटर एकाउंट्स पर नफरत फैलाने वाली पोस्ट की। कहा कि ऐसे अराजक तत्वों पर कार्रवाई की जाए। राजेश्वर सिंह का यह कृत्य न केवल एएमयू की छवि को धूमिल करने वाला है, बल्कि प्रधानमंत्री का चित्र निंदनीय तरीके से दिखाने वाला है। उन्होंने पोस्ट चित्र को लंदन में आयोजित एक कार्यक्रम के वीडियो से लिया गया स्क्रीन शॉट बताया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:NSA ajit Doval tweet on PM objectionable poster created ruckus