DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

TDP के 4 सांसद हुए BJP में शामिल तो चंद्रबाबू नायडू बोले- घबराने की जरूरत नहीं है, संकट कोई नया नहीं

andhra pradesh cm chandrababu naidu  file photo

देश में एक महत्वपूर्ण राजनीतिक घटनाक्रम में राज्यसभा में चंद्रबाबू नायडू की पार्टी तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) के छह में से चार सांसद गुरुवार को पार्टी छोड़ कर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हो गये। राज्यसभा सांसद वाई एस चौधरी, सी एम रमेश, टी जी वेंकटेश और जी मोहन राव उस समय भाजपा में शामिल हुए जब तेदेपा के अध्यक्ष एन चंद्रबाबू नायडू विदेश यात्रा पर गये हैं। हालांकि, अपनी पार्टी के चार सासंदों के बीजेपी में जाने पर उनकी प्रतिक्रिया आई है। चंद्रबाबू नायडू ने अपने कार्यकर्ताओं और पार्टी नेताओं से कहा कि उन्हें घबराने की जरूरत नहीं है। 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, टीडीपी प्रमुख चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि हमने भाजपा के साथ केवल विशेष दर्जे की मांग और राज्य के हितों के लिए लड़ाई लड़ी। हमने टीडीपी को कमजोर करने के भाजपा के प्रयासों की निंदा करते हुए विशेष दर्जा के लिए केंद्रीय मंत्रियों के पद को त्याग दिया। पार्टी के लिए संकट कोई नई बात नहीं है। नेताओं और कैडर को घबराने की कोई जरूरत नहीं है। 

इन चारों सांसदों ने बैठक कर पहले यह प्रस्ताव पारित किया कि तेदेपा संसदीय दल का भाजपा में विलय किया जाता है। इस प्रस्ताव को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के पास भेजा गया जिसे शाह ने स्वीकृति दे दी और इस प्रस्ताव को भाजपा के स्वीकृति संबंधी प्रस्ताव के साथ राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू को सौंप दिया। इन सांसदों ने कहा कि सभापति इस विलय को मंजूरी दें और सदन में उन्हें भाजपा का सांसद माना जाये। 

बाद में भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने पार्टी मुख्यालय में तीन सदस्यों - श्री चौधरी, श्री रमेश एवं श्री वेंकटेश का भाजपा में स्वागत किया। श्री जी मोहन राव के पैर में चोट लगने के कारण वह भाजपा मुख्यालय में उपस्थित नहीं हो सके। टीडीपी के राजग में रहने के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मंत्रिमंडल में राज्य मंत्री रहे श्री चौधरी ने कहा कि चुनाव में देश का मूड देखने के बाद हम सबने राष्ट्रनिमार्ण के काम में भागीदार बनने के लिए ये फैसला किया। उन्होंने कहा कि वे आंध्रप्रदेश पुनर्गठन कानून के क्रियान्वयन करने के लिए समन्वय से काम करना चाहते हैं, न कि टकराव के।

वहीं जेपी नड्डा ने बताया कि टीडीपी के चारों सांसदों का लंबे समय से विचार था कि वे आंध्र प्रदेश के विकास के सकारात्मक एजेंडे को बल देने के लिए भाजपा में शामिल होना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि वह इन सांसदों को विश्वास दिलाते हैं कि भाजपा राज्य में सकारात्मक राजनीति करेंगे और सबका विश्वास लेकर आगे बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि चारों आंध्रप्रदेश के ज़मीनी नेता हैं और वे भाजपा को पूरी ताकत के साथ मजबूत करेंगे। 

राज्यसभा में तेदेपा के छह सांसद थे। इस तरह से दो तिहाई सांसदों ने पाटीर् बदली है, इसलिए उन पर दल बदल निरोधक कानून लागू नहीं होगा। उच्च सदन में अब श्री के. रवीन्द्र कुमार और श्रीमती थोटा सीताराम लक्ष्मी ही तेदेपा के सदस्य के रूप में रह गये हैं। (इनपुट वार्ता)
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:nothing to be nervous Chandrababu Naidu tells party after 4 MPs join BJP