ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देश स्मृति ईरानी ही नहीं, मोदी के इन केंद्रीय मंत्रियों ने भी लोकसभा चुनाव में गवाई अपनी सीट

स्मृति ईरानी ही नहीं, मोदी के इन केंद्रीय मंत्रियों ने भी लोकसभा चुनाव में गवाई अपनी सीट

लोकसभा चुनाव के नतीजे आ गए हैं। एनडीए ने बहुमत का आंकड़ा पार कर लिया है। लेकिन इस बार कई केंद्रीय मंत्रियों को हार का भी सामना करना पड़ा है।

 स्मृति ईरानी ही नहीं, मोदी के इन केंद्रीय मंत्रियों ने भी लोकसभा चुनाव में गवाई अपनी सीट
smriti irani recalls her days in the tv industry said i suffered a miscarriage on set
Jagritiलाइव हिंदुस्तान,नई दिल्लीWed, 05 Jun 2024 01:31 PM
ऐप पर पढ़ें


मंगलवार को मतगणना के बाद लोकसभा चुनाव के नतीजे आ गए हैं। इसके साथ ही एनडीए एक बार फिर बहुमत के साथ सरकार बनाने जा रही है। एनडीए ने जहां 291 सीटें जीती है तो वहीं इंडिया ब्लॉक ने सभी एग्जिट पोल के आंकड़ों को गलत साबित करते हुए 234 सीटों पर जीत दर्ज की है। भारतीय जनता पार्टी की बात की जाए तो पिछले लोकसभा चुनाव की तुलना में उसे 63 सीटों का नुकसान हुआ है। 2014 और 2019 के आम चुनावों में अपने दम पर बहुमत का आंकड़ा पार करने वाली बीजेपी को इस बार 240 सीटों पर संतोष करना पड़ा है। 

इस चुनाव में राजनीति के कई बड़े दिग्गजों को भी हार का सामना करना पड़ा है। इनमें से कई एनडीए की सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं। आइए जानते हैं किन केंद्रीय मंत्रियों को इस चुनाव में हार का सामना करना पड़ा है। 

स्मृति ईरानी 

इस चुनाव में सबसे बड़ा चौकाने वाला परिणाम अमेठी से देखने को मिला है। पिछले बार राहुल गांधी को हराकर अमेठी से सांसद पहुंची स्मृति ईरानी को इस बार हार का सामना करना पड़ा है। स्मृति केंद्र सरकार में महिला बाल विकास मंत्री के पद पर थी। उन्हें कांग्रेस के किशोरी लाल शर्मा ने 1 लाख 67 हजार से अधिक मतों के अंतर से हरा दिया है।

अर्जुन मुंडा

केंद्रीय जनजातीय कार्य और कृषि मंत्री अर्जुन मुंडा भी चुनाव हार गए हैं। उन्हें झारखंड के खूंटी लोकसभा सीट पर कांग्रेस के कालीचरण मुंडा ने हराया है। 

राजीव चंद्रशेखर

केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री राजीव चंद्रशेखर भी चुनाव हार गए हैं। उन्हें केरल की तिरुवंतपुरम लोकसभा सीट पर कांग्रेस के दिग्गज शशि थरूर ने 16077 वोटों से हराया है।


अजय मिश्र टेनी

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय टेनी लखीमपुर खीरी सीट से चुनाव हार गए हैं। उन्हें समाजवादी पार्टी के उत्कर्ष वर्मा ने हराया है। टेनी के बेटे को अक्तूबर 2021 में लखीमपुर खीरी हिंसा के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया था।

कौशल किशोर

आवास और शहरी कार्य राज्य मंत्री मोहनलालगंज सीट से चुनाव हार गए हैं। उन्हें समाजवादी पार्टी के आर के चौधरी ने 70, 292 वोटों से हराया है। 

 

महेंद्र नाथ पांडे 

केंद्रीय मंत्री महेंद्र नाथ पांडे चंदौली लोकसभा सीट पर हार गए हैं। उन्हें समाजवादी पार्टी के बीरेंद्र सिंह ने हराया। 

सुभाष सरकार 

शिक्षा राज्य मंत्री सुभाष सरकार पश्चिम बंगाल की बांकुरा सीट से चुनाव हार गए। उन्हें टीएमसी के अरुण चक्रवर्ती ने हरा दिया है।

भगवंत खुबा 

केंद्रीय मंत्री भगवंत खुबा को हार का सामना करना पड़ा है। उन्हें कर्नाटक के मंत्री ईश्वर खंडे के बेटे सागर खंडे ने हराया है।

कैलाश चौधरी 
राजस्थान के बाड़मेर सीट पर कृषि एवम किसान कल्याण राज्य मंत्री भी हार गए है। उन्हें कांग्रेस के 
उम्मेद राम बेनीवाल ने हराया है। 

संजीव बालियान 
केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान को मुजफ्फरनगर  लोकसभा सीट पर हार मिली है। समाजवादी पार्टी के हरेंद्र सिंह मलिक ने उन्हें 24000 से ज्यादा वोटों के अंतर से हराया है। 

निसिथ प्रमाणिक 

पश्चिम बंगाल में भाजपा का चेहरा रहे निसिथ प्रमाणिक कूचविहार सीट से चुनाव हार गए। उन्हें टीएमसी के जगदीश चंद्र बसुनिया ने लगभग 39000 वोटों से हरा दिया है। 

एल मुरुगन

तमिलनाडु के निलीगिरी लोकसभा सीट पर केंद्रीय मंत्री एल मुरुगन को भी हार मिली है। उन्हें डीएमके के ए राजा ने 2 लाख से ज्यादा वोटों के अंतर से हरा दिया है। एल मुरुगन, केंद्रीय मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी राज्य मंत्री के पद पर थे। 

साध्वी निरंजन ज्योति

यूपी में भाजपा को ज्यादातर सीटों पर निराशा ही हाथ लगी है। यूपी की फतेहपुर सीट पर केंद्रीय मंत्री और दो बार सांसद रह चुकी साध्वी निरंजन ज्योति भी चुनाव हार गई हैं। उन्हें समाजवादी पार्टी के नरेश उत्तम ने हराया है।