DA Image
10 अप्रैल, 2020|6:05|IST

अगली स्टोरी

CAA पर फिर सुलगी दिल्ली, 10 प्वाइंट में जानें नॉर्थ ईस्ट दिल्ली हिंसा में अब तक क्या-क्या हुआ

delhi violence or northeast delhi violence

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर सोमवार को नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में दो गुटों के बीच हुई ताजा झड़प ने ऐसा हिंसक मोड़ लिया कि सात लोगों की मौत हो गई। दिल्ली के जाफराबाद-मौजपुर के इलाकों में सोमवार को नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) का समर्थन करने वाले और विरोध करने वाले समूहों के बीच संघर्ष हुआ और प्रदर्शनकारियों ने कई घरों, दुकानों व वाहनों में आग लगा दी और एक-दूसरे पर पथराव किया था। इस हिंसक प्रदर्शन में एक पुलिस कर्मी समेत 7 लोगों की मौत हो गई। इसके अलावा, हिंसा में अर्द्धसैनिक बल और दिल्ली पुलिसकर्मियों सहित कम से कम 50 लोग घायल हुए हैं। हिंसक प्रदर्शन को देखते हुए न सिर्फ कई मेट्रो के एग्जिट और एंट्री को बंद करना पड़ा, बल्कि सुरक्षाबलों की अतिरिक्त तैनाती की गई। मंगलवार को भी झड़प देखने को मिली। हालांकि, दिल्ली के इस भयावह हालात को देखते हुए दिल्ली सरकार और केंद्रीय गृह मंत्रालय में बैठकों का दौर भी जारी है। तो चलिए जानते हैं नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में हुए हिंसक झड़प से जुड़ी सभी अहम बातें...

1. सीएए और एनआरसी को लेकर उत्तर पूर्वी दिल्ली में हिंसक घटनाओं में मंगलवार तक मरने वालों की संख्या बढ़ कर सात हो गई है। मरने वाले में एक पुलिस कर्मी भी शामिल है। साथ ही इस हिंसक प्रदर्शन में दर्जनों वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया है। हिंसा प्रभावित इलाकों में पुलिस ने धारा 144 लगा दिया है। 

2. दिल्ली में सीएए को लेकर हाल ही में हुई हिंसा के मामले में प्राथमिकी दर्ज कराने की मांग करते हुए पूर्व सीआईसी वजाहत हबीबुल्लाह, अन्य ने उच्चतम न्यायालय का रुख किया है। वहीं, भीम आर्मी ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर दिल्ली हिंसा के लिए कपिल मिश्रा को जिम्मेवार ठहराया है।

3. उत्तर पूर्वी दिल्ली में सोमवार को हुई हिंसा में तीन दमकल कर्मी घायल हो गए। विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि उन्हें हिंसा प्रभावित उत्तर पूर्वी दिल्ली से करीब 45 फोन किए गए थे। उन्होंने बताया कि सोमवार को फोन पर आगजनी की सूचना मिलने पर जब कर्मी मौके पर पहुंचे थे तो प्रदर्शकारियों ने दमकल की एक गाड़ी पर पथराव किया और अन्य को आग के हवाले कर दिया। उन्होंने बताया कि तीन दमकल कर्मी घायल हुए हैं।

4. नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर मौजपुर और ब्रहमपुरी में मंगलवार सुबह पत्थरबाजी की घटना सामने आई। वहीं करावल नगर में कुछ लोगों ने टायर मार्केट में आग लगा दी। गृह मंत्री अमित शाह ने आपात बैठक बुलाई है जिसमें पुलिस अधिकारी, उपराज्यपाल और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल शामिल होंगे। 

5. हिंसा की घटनाओं के चलते उत्तर-पूर्वी दिल्ली के सभी स्कूलों को बंद रखा गया है। उत्तर पूर्वी दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट स्कूल मंगलवार को बंद कर दिए गए हैं। स्कूलों में होने वाली गृह परीक्षाएं भी रद्द कर दी गई हैं। दिल्ली के शिक्षामंत्री मनीष सिसोदिया ने बोर्ड परीक्षा रद्द करने का आग्रह किया है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने हिंसा त्याग शांति कायम करने की अपील की है। 

6. उत्तर पूर्व के हिंसा प्रभावित इलाकों में बीती रात भी हालात पूरी तरह नहीं शांत हुए थे। रात भर छिटपुट हिंसा का दौर चलता रहा है। जानकारी के अनुसार गोकलपुरी, घोंडा, भजनपुरा और यमुना विहार के विभिन्न इलाकों में रात भर छिटपुट हिंसा होती रहीं। भीड़ ने दुकानों में लूटपाट की और वाहनों में आग लगा दी। रात भर लोगों ने घरों के बाहर बैठकर रखवाली की। 

7. जाफराबाद, मौजपुर, चांद बाग, खुरेजी खास और भजनपुरा में सीएए समर्थक और विरोधी समूहों के बीच हिंसा भड़कने के बाद पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिये आंसू गैस छोड़ी और लाठीचार्ज भी किया। हालात नियंत्रित करने के लिए सुरक्षा बलों ने फ्लैग मार्च किया और निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है। हालांकि मौजपुर और अन्य इलाकों में देर रात छिटपुट झड़पें जारी रहीं।

8. दिल्ली मेट्रो ने भी ऐतिहातन जाफराबाद, मौजपुर, बाबरपुर, गोकुलपुरी, जौहरी एन्क्लेव और शिव विहार मेट्रो स्टेशन को बंद रखने का फैसला किया है। दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) ने ट्वीट किया, 'जाफराबाद, मौजपुर-बाबरपुर, गोकुलपुरी, जौहरी एनक्लेव और शिव विहार मेट्रो स्टेशन बंद हैं। ट्रेनें वेलकम मेट्रो स्टेशन से आगे नहीं जाएंगी।' सीएए के विरोधियों और समर्थकों के बीच हिंसक झड़पों के चलते जाफराबाद और मौजपुर-बाबरपुर मेट्रो स्टेशन रविवार को बंद किए थे लेकिन बाकी तीनों स्टेशन सोमवार को बंद किए गए। 

9. दरअसल, नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ बड़ी संख्या में प्रदर्शन कर रहे लोगों ने रविवार को सड़क अवरुद्ध कर दी थी जिसके बाद जाफराबाद में सीएए के समर्थकों और विरोधियों के बीच झड़प शुरू हो गई थी। दिल्ली के कई अन्य इलाकों में भी ऐसे ही धरने शुरू हो गए। मौजपुर में भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने एक सभा बुलाई थी जिसमें मांग की गई थी कि पुलिस तीन दिन के भीतर सीएए विरोधी प्रदर्शनकारियों को हटाए। इसके तुरंत बाद दो समूहों के सदस्यों ने एक-दूसरे पर पथराव किया, जिसके चलते पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े।

10. दिल्ली के उत्तर-पूर्वी दिल्ली में जारी हिंसा को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने विधायकों के साथ बैठक करने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा कि अस्पताल प्रशासन को लोगों को चिकित्सा सुविधा मुहैया कराने के लिए कहा गया है। साथ ही दमकल विभाग को भी तैयार रहने को कहा गया है। उन्होंने बताया कि बॉर्डर एरिया में रहने वाले विधायकों ने कहा है कि दिल्ली में बाहर से लोग आ रहे हैं। ऐसे लोगों को रोकने की जरूरत है और संदिग्ध लोगों को गिरफ्तार किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि जो पुलिसबल तैनात किया गया है वह काफी कम है। सीएम ने कहा कि हिंसा प्रभावित इलाकों में मंदिर और मस्जिदों से शांति बनाए रखने की अपील की जानी चाहिए। उन्होंने बताया कि 12 बजे होम मिनिस्टर के साथ मुलाकात है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:North East Delhi Violence 10 thing you need to Know about Violence while CAA Protest in Jaffrabad maujpur babarpur