ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशराष्ट्रपति वीरता पुरस्कार विजेताओं को राजधानी और शताब्दी में नहीं मिलेगी मुफ्त यात्रा, रेलवे ने ठुकराया प्रस्ताव

राष्ट्रपति वीरता पुरस्कार विजेताओं को राजधानी और शताब्दी में नहीं मिलेगी मुफ्त यात्रा, रेलवे ने ठुकराया प्रस्ताव

इनमें 140 कर्मियों को वीरता के लिए पुलिस पदक (पीएमजी), 93 को राष्ट्रपति के पुलिस पदक (पीपीएम) और 668 को मेधावी सेवा (पीएम) के लिए पुलिस पदक से सम्मानित किया गया है।

राष्ट्रपति वीरता पुरस्कार विजेताओं को राजधानी और शताब्दी में नहीं मिलेगी मुफ्त यात्रा, रेलवे ने ठुकराया प्रस्ताव
Amit Kumarएएनआई,नई दिल्लीFri, 27 Jan 2023 11:45 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

राष्ट्रपति पुलिस पदक (पीपीएमजी) और वीरता पुरस्कार (पीएमजी) विजेताओं व उनकी विधवाओं को मुफ्त में ट्रेन यात्रा की सुविधा नहीं मिलेगी। केंद्रीय गृह मंत्रालय (एमएचए) के इस प्रस्ताव को रेल मंत्रालय ने ठुकरा दिया है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राष्ट्रपति वीरता पुरस्कारों के विजेताओं और दिवंगत विजेताओं की विधवाओं को राजधानी और शताब्दी ट्रेनों में निशुल्क सफर करने की मंजूरी देने को कहा था। अब रेलवे बोर्ड ने अपने जवाब में वित्तीय और अन्य कारणों का हवाला देते हुए प्रस्ताव पर सहमति नहीं जताई। 

बता दें कि देश के 74वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर 901 पुलिस कर्मियों को पुलिस पदक से सम्मानित किया गया था। इनमें 140 कर्मियों को वीरता के लिए पुलिस पदक (पीएमजी), 93 को राष्ट्रपति के पुलिस पदक (पीपीएम) और 668 को मेधावी सेवा (पीएम) के लिए पुलिस पदक से सम्मानित किया गया है। इसी तरह हर साल ये पुरस्कार दिए जाते हैं। इससे पहले पीएमजी और पीपीएमजी पुरस्कार पाने वालों को साल में एक बार एक्जीक्यूटिव क्लास में मुफ्त यात्रा की सुविधा मिलती थी। 

ताजा प्रस्ताव केंद्रीय रिजर्व पुलिसबल (सीआरपीएफ) की ओर से गृह मंत्रालय को भेजा गया था। जिसे गृह मंत्रालय ने रेल मंत्रालय के समक्ष रखा। दरअसल इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (आईआरसीटीसी) टिकटिंग वेबसाइट के माध्यम से पीपीएमजी/पीएमजी के प्राप्तकर्ताओं को राजधानी और शताब्दी ट्रेनों में यात्रा करने के लिए मफ्त टिकटों की बुकिंग और सुविधा के विस्तार का मामला सीआरपीएफ के महानिदेशक द्वारा उठाया गया था।  

केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) ने अपने एक हालिया संचार में कहा, "सीआरपीएफ के अनुरोध पर, गृह मंत्रालय (गृह मंत्रालय) ने सरकार के साथ पीएमजी/पीपीएमजी के प्राप्तकर्ताओं को राजधानी और शताब्दी ट्रेनों में यात्रा करने की सुविधा के विस्तार के लिए एक प्रस्ताव भेजा था। लेकिन रेल मंत्रालय के सक्षम प्राधिकारी द्वारा इस पर सहमति नहीं दी गई है।"

पुलिस प्रतिष्ठान के सूत्रों ने कहा कि राजधानी और शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेनों में एक्जीक्यूटिव क्लास में पीपीएमजी और पीएमजी पुरस्कार विजेताओं और वीरता पुरस्कार विजेताओं की विधवाओं को मुफ्त टिकट देना कई वर्षों से चलन में था, लेकिन बाद में रेल मंत्रालय द्वारा इसे वापस ले लिया गया।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें