DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आयुष डॉक्टर भी कर सकेंगे एलोपैथी इलाज, नेशनल एग्जिट टेस्ट अगले तीन साल में

नेशनल मेडिकल कमीशन का गठन हो जाने के बाद आयुर्वेद और होम्योपैथिक के चिकित्सक भी प्राथमिक स्तर पर एलोपैथी की प्रैक्टिस कर सकेंगे। इसके लिए कमीशन उन्हें बतौर सामुदायिक स्वास्थ्य प्रदाता लाइसेंस जारी करेगा। हालांकि, इन लाइसेंस की संख्या पंजीकृत एमबीबीएस चिकित्सकों की कुल संख्या के एक-तिहाई से कम होगी।

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन की ओर से सोमवार को लोकसभा में नेशनल मेडिकल कमीशन विधेयक-2019 पेश किया गया। इस विधेयक में प्रावधान है कि कमीशन आधुनिक और वैज्ञानिक चिकित्सा व्यवसाय से जुड़े व्यक्तियों को सामुदायिक स्वास्थ्य प्रदाता के तौर पर मेडिसिन प्रैक्टस करने का लाइसेंस जारी कर सकता है। 

‘नेक्स्ट’ तीन साल में 
विधेयक में स्पष्ट किया गया है कि कमीशन के गठन के साथ ही प्रस्तावित नेशनल एग्जिट टेस्ट (नेक्स्ट) शुरू नहीं होगी। इसे कमीशन के गठन से तीन साल के भीतर शुरू किया जाएगा। जब तक नेक्स्ट शुरू नहीं होता परीक्षा की पुरानी व्यवस्था ही कायम रहेगी। 

चार बोर्ड का प्रस्ताव 
बिल में चार स्वशासी बोर्ड के गठन का प्रस्ताव है। इसमें स्नातक पूर्व और स्नातकोत्तर अतिविशिष्ट आयुर्विज्ञान शिक्षा में प्रवेश के लिए एक सामान्य राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परिक्षा आयोजित करने की बात कही गई है। इसमें चिकित्सा व्यवसाय करने के लिए राष्ट्रीय निर्गम परीक्षा आयोजित करने की बात कही गई है।

पंजीकृत चिकित्सकों की संख्या के एक तिहाई लाइसेंस
विधेयक में सीधे-सीधे ब्रिज कोर्स का जिक्र तो नहीं किया गया है, लेकिन इसमें कहा गया है कि लाइसेंस जारी करने के लिए जरूरी मानदंड कमीशन का गठन होने के बाद तैयार किया जाएगा। किसी भी सूरत में इस श्रेणी में जारी करने वाले लाइसेंस की संख्या पंजीकृत चिकित्सकों की संख्या के एक तिहाई से अधिक नहीं होगी। विधेयक के मुताबिक सामुदायिक स्वास्थ्य प्रदाता प्राथमिक स्तर पर अपने स्तर पर मरीजों को कुछ खास दवाएं दे सकेंगे। हालांकि प्राथमिक स्तर से ऊपर वे दवाएं किसी पंजीकृत चिकित्सक की निगरानी में ही दे सकेंगे। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:NMC Bill 2019 in Lok Sabha Ayush Doctor Likely To Do Allopathic Treatment NEXT in Coming Three Years