ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशदो डिप्टी सीएम, स्पीकर, नीतीश की तय हुई BJP से डील; तेजस्वी लगाएंगे अड़ंगा

दो डिप्टी सीएम, स्पीकर, नीतीश की तय हुई BJP से डील; तेजस्वी लगाएंगे अड़ंगा

बिहार की सियासत में ऊंट किस करवट बैठेगा यह आने वाले दिनों में पता चल जाएगा मगर ऐसी अटकलें हैं कि नीतीश कुमार को बिहार की सरकार में सपोर्ट करने के लिए बीजेपी ने कई डिमांड रखी है।

दो डिप्टी सीएम, स्पीकर, नीतीश की तय हुई BJP से डील; तेजस्वी लगाएंगे अड़ंगा
Himanshu Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSat, 27 Jan 2024 03:37 PM
ऐप पर पढ़ें

पिछले दो दिनों से बिहार की सियासत में भारी हलचल देखने को मिल रही है। ऐसी अटकलें हैं कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार महागठबंधन का साथ छोड़कर एनडीए में शामिल हो सकते हैं और बिहार में भाजपा के सपोर्ट से सरकार बना सकते हैं। बिहार की सियासत के पीछे जारी इस सस्पेंस का इशारा बीते दो दिन के सियासी घटनाक्रम में देखने को मिला है। जहां शुक्रवार को कई आला नेताओं के बयान आए तो वहीं शनिवार को भाजपा, जेडीयू और आरजेडी ने बैठक बुलाई है। आने वाले दो दिन बिहार की सियासत के लिए अहम हैं। इसी बीच ऐसा बताया जा रहा है कि यदि भाजपा नीतीश कुमार के साथ बिहार में सरकार बनाती है तो उसे सरकार में कई अहम पद चाहिए।

बीजेपी से तय हुई डील?
आजतक की रिपोर्ट के मुताबिक, भाजपा ने नीतीश कुमार को बिहार की सरकार में सपोर्ट करने के लिए दो डिप्टी सीएम और सदन में स्पीकर के पद की डिमांड की है। ऐसा बताया जा रहा है कि इस डील पर लगभग मुहर लग गई है और आज रात तक भाजपा का समर्थन पत्र जेडीयू को मिल जाएगा। रविवार को नीतीश कुमार भाजपा के सपोर्ट से अपनी नई सरकार का आगाज कर सकते हैं। हालांकि, यह सभी अटकलें ही हैं। बिहार की सियासत में ऊंट किस करवट बैठेगा यह नीतीश कुमार निर्णय के बाद ही पता चलेगा।

तेजस्वी फंसाएंगे गेम
मगर नीतीश ऐसा आसानी से कर ले जाएंगे... ऐसा होता नजर नहीं हो रहा। इसी उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव की तरफ से एक बयान आने का दावा किया जा रहा है, जिसमें कहा गया है कि राज्य में आसानी से तख्तापलट होने नहीं दिया जाएगा। विभिन्न मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि महागठबंधन सरकार गिरने की स्थिति में राजद आसानी से एनडीए सरकार की ताजपोशी होने नहीं देगी। इसके लिए राजद खेमा तैयारियों में जुटा है। सूत्रों के मुताबिक, दावा किया जा रहा है कि राजद किसी दलित चेहरे को मुख्यमंत्री पद के लिए आगे कर सकता है और राजद-कांग्रेस एवं वाम दलों के विधायकों की परेड गवर्नर के सामने करा सकता है। बहरहाल, राजद ने अपने सभी विधायकों की एक बैठक 5 सर्कुलर रोड स्थित तेजस्वी यादव के सरकारी आवास पर बुलाई थी।

कहा जा रहा है कि राजद सुप्रीमो लालू यादव ने कल नीतीश कुमार को पांच बार फोन किया लेकिन नीतीश ने उनका फोन नहीं उठाया, इससे लालू यादव नीतीश से नाराज हो गए हैं। शिवानंद तिवारी के बारे में भी कहा जा रहा है कि उन्होंने भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात का वक्त मांगा लेकिन उन्हें भी निराशा हाथ लगी है। इससे शिवानंदज तिवारी भी नीतीश कुमार से खफा हो गए हैं। अटकलें लगाई जा रही हैं कि नीतीश कुमार बिहार विधानसभा भंग करने की भी सिफारिश कर सकते हैं। हालांकि, चर्चा यह भी है कि वह 2025 के विधानसभा चुनाव तक मुख्यमंत्री बने रह सकते हैं। चर्चा इस बात की भी हो रही है कि राजद खेमा अब अपने बूते सरकार बनाने की भी कोशिशों में जोड़-तोड़ में जुटा है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें