Nirmohi Akhara Want Huge Role in Ram Temple Trust Sent Letter To PM Modi - राम मंदिर ट्रस्ट में निर्मोही अखाड़ा चाहता है 'बड़ी' भूमिका, PM मोदी से मिलने के लिए मांगा समय DA Image
5 दिसंबर, 2019|11:01|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राम मंदिर ट्रस्ट में निर्मोही अखाड़ा चाहता है 'बड़ी' भूमिका, PM मोदी से मिलने के लिए मांगा समय

ayodhya after supreme court verdict

अयोध्या रामजन्मभूमि प्रकरण में सर्वोच्च न्यायालय की ओर से दिए गए आदेश के मद्देनजर निर्मोही अखाड़ा के पंचों की अयोध्या में रविवार (17 नवंबर) को बैठक हुई। बैठक में हुए फैसले के अनुसार, प्रधानमंत्री से मिलने का समय लेने के लिए एक पत्र सोमवार (18 नवंबर) को रजिस्ट्री से भेजा गया।

पत्र में कहा गया कि सर्वोच्च न्यायालय ने अपने फैसले में निर्मोही अखाड़ा की ऐतिहासिक उपस्थिति को स्वीकार किया है। इसके साथ ही बोर्ड ऑफ ट्रस्ट में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करने की भी अपेक्षा की है। इस क्रम में अखाड़े का प्रतिनिधिमंडल आपसे भेंट करना कर अपना प्रतिवेदन देना चाहता है। इस सम्बन्ध में मुलाकात के लिए समय निर्धारित करने का कष्ट करें।

निर्मोही अखाड़े की बैठक में बोर्ड ऑफ ट्रस्ट में शामिल होने का निर्णय लिया गया। इसके मद्देनजर अपना प्रतिनिधित्व भेजने के लिए अयोध्या बैठक के महंत दिनेन्द्र दास ने सोमवार को जिलाधिकारी के माध्यम से प्रधानमंत्री के नाम दूसरा पत्र भेजा है। यह पत्र अखाड़े के मुख्तार प्रभात सिंह ने जिलाधिकारी अनुज कुमार झा को सौंपा। ज्ञातव्य है कि निर्मोही अखाड़े के 15 पंचों में 13 पंच ही मौजूदा वक्त में हैं। इनमें से नौ पंचों ने ही बैठक में शिरकत की थी। इन सभी पंचों ने सामूहिक रूप से निर्णय लिया कि बोर्ड ऑफ ट्रस्ट में अखाड़े के सभी पंचों को शामिल किया जाए। 

आईथीम पार्क बनेगा अयोध्या का विशेष आकर्षण
उत्तर प्रदेश पर्यटन नीति- 2018 के अनुसार अयोध्या में दस होटल व रिजॉर्ट के पंजीकरण के क्रम में जिन औद्योगिक इकाइयों ने अपना पंजीकरण कराया था, उनमें शिवा कांस्ट्रक्शन कंपनी भी शामिल थी। इस कंपनी ने आईथीम पार्क की परियोजना प्रस्तुत की। बताया गया कि यह उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा थीम पार्क होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Nirmohi Akhara Want Huge Role in Ram Temple Trust Sent Letter To PM Modi