ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशबजट 2024 पेश करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने किया रामलला का जिक्र, उन्होंने इसकी वजह भी बताई

बजट 2024 पेश करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने किया रामलला का जिक्र, उन्होंने इसकी वजह भी बताई

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद में मोदी सरकार का अंतरिम बजट पेश किया। बजट पेश करते वक्त वित्त मंत्री ने राम मंदिर का जिक्र करते हुए एक खास योजना के बारे में बताया।

बजट 2024 पेश करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने किया रामलला का जिक्र, उन्होंने इसकी वजह भी बताई
Himanshu Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 01 Feb 2024 05:49 PM
ऐप पर पढ़ें

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को संसद में पीएम मोदी सरकार का अंतरिम बजट पेश किया। अपने बजटीय भाषण में वित्त मंत्री ने अयोध्या के राम मंदिर का जिक्र किया। प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना पर का जिक्र करते हुए, निर्मला सीतारमण ने अपने अंतरिम बजट भाषण में कहा कि रूफटॉप सोलराइजेशन के माध्यम से एक करोड़ परिवार हर महीने 300 यूनिट तक मुफ्त बिजली प्राप्त करने में सक्षम हो जाएंगे। सीतारमण ने कहा, "यह योजना अयोध्या के राम मंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के ऐतिहासिक दिन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सपनों को पूरा करने के प्रति एक अहम कदम साबित हुई।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनवरी की शुरुआत में छत पर सौर ऊर्जा स्थापित करने के लक्ष्य के साथ प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना की घोषणा की थी। पीएम मोदी ने एक्स पर कहा था, "अयोध्या से लौटने के बाद मैंने अपना पहला निर्णय लिया है कि हमारी सरकार एक करोड़ घरों में छत पर सौर प्रणाली स्थापित करने के लक्ष्य के साथ 'प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना' शुरू करेगी।"

योजना के तहत लाभ
लाभों के बारे में बात करते हुए वित्त मंत्री सीतारमण ने सदन को सूचित करते हुए कहा कि इस योजना के तहत परिवारों को सालाना ₹ 15,000-18,000 तक की बचत होगी। उन्होंने कहा कि योजना के तहत लोग अपने इलेक्ट्रिक वाहनों को चार्ज कर सकेंगे। इस योजना के तहत बड़ी संख्या में विक्रेताओं से लेकर उद्यमिता को भी लाभ मिलेगा। यह योजना विनिर्माण, स्थापना और रखरखाव में तकनीकी कौशल वाले युवाओं के लिए रोजगार के अवसर प्रदान करेगी। 

2070 तक 'नेट-जीरो' के लिए भारत की प्रतिबद्धता का जिक्र करते हुए वित्त मंत्री पवन ऊर्जा की क्षमताओं के बारे में भी संसद भवन में अपने भाषण  में बताया। मंत्री ने कहा, "1 गीगावॉट की प्रारंभिक क्षमता के लिए पवन ऊर्जा क्षमता के लिए फंड प्रदान की जाएगी।"

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें